मार्च में नहीं पूरा हो पाएगा PAP फ्लाईओवर, जनता को करना होगा इंतजार

Tuesday, March 13, 2018 11:15 AM
मार्च में नहीं पूरा हो पाएगा PAP फ्लाईओवर, जनता को करना होगा इंतजार

 जालंधर(अमित): एन.एच.ए.आई. की तरफ से पी.ए.पी. फ्लाईओवर का काम पूरा करने के लिए 31 मार्च 2018 का निर्धारित लक्ष्य एक बार फिर से पूरा नहीं हो पाएगा। जनता को इसके लिए फिलहाल कुछ देर और इंतजार करना पड़ सकता है क्योंकि फ्लाईओवर का काम करने वाली कम्पनी को एन.एच.ए.आई. की तरफ से पैसे रिलीज नहीं हो सके हैं, जिसकी वजह से काम पिछले कई दिनों से रुका हुआ है। 

डी.सी. वरिन्द्र कुमार शर्मा ने इसे गंभीरता से लेते हुए एन.एच.ए.आई. को एक पत्र लिखा है, जिसमें उन्हें तुरंत कम्पनी का पैसा रिलीज करने के लिए निर्देश दिया गया है, ताकि तुरंत प्रभाव से रुका हुआ काम एक बार फिर से शुरू हो सके। डी.सी. ने अपने पत्र में स्पष्ट किया है, कि फ्लाईओवर का काम रुका होने की वजह से वहां रोजाना भारी ट्रैफिक जाम लगने लगे हैं जिससे किसी भी समय कोई हादसा हो सकता है। सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार एन.एच.ए.आई. की तरफ से ठेका आईसोलैक्स कम्पनी को दिया गया है और उसने आगे सारा काम सोमा कम्पनी को सबलैट किया हुआ है। दोनों कम्पनियों के बीच आपसी आंतरिक समस्या चल रही है जिसके कारण काम रुका हुआ है जबकि अथॉरिटी की तरफ से आईसोलैक्स को रूटीन में फंड रिलीज किए जाने की बात सामने आ रही है।

यहां बताने लायक है कि प्रशासन, हाईवे अथॉरिटी व सरकार के अनेकों प्रयासों के बाद भी रामामंडी और पी.ए.पी. फ्लाईओवर का रास्ता 2017 में जनता के लिए नहीं खुल पाया था। मगर कुछ महीने पहले प्रशासन द्वारा किए गए प्रयासों की वजह से रामामंडी से लेकर पी.ए.पी. चौक तक अधूरे पड़े फ्लाईओवर व सॢवस लेन का निर्माण शुरू हो पाया था। डी.सी. वरिन्द्र कुमार शर्मा ने नैशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया व निर्माण करने वाली सोमा कंस्ट्रक्शन कम्पनी को काम पूरा करने के लिए 31 मार्च की डैडलाइन दी थी। पानीपत से लेकर जालंधर शहर के विधिपुर फाटक तक 2009 में 3400 करोड़ की लागत से सिक्स लेन नैशनल हाईवे बनाने की योजना तैयार की गई थी। यह योजना 11 नवम्बर 2011 तक पूरी करनी थी। मगर जालंधर में रामामंडी से लेकर पी.ए.पी. चौक के मध्य सेना का टैंक सॢवस लेन के बीच मेंं आ रहा था जिसके कारण इस क्षेत्र का काम पिछले कई सालों से अधूरा छोड़ दिया गया था। तब से लेकर अब तक यह काम ऐसे ही लटक रहा था और शहर की ट्रैफिक व्यवस्था इस रोड पर पूरी तरह से ध्वस्त हो गई थी। 



आप को जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!