CBSE 12वीं की डेटशीट ने उलझाए भावी इंजीनियर

Friday, January 12, 2018 11:14 AM
CBSE 12वीं की डेटशीट ने उलझाए भावी इंजीनियर

लुधियाना(विक्की): सी.बी.एस.ई. ने एक तो पहले ही 12वीं की डेटशीट जारी करने में लेटलतीफी का रवैया अपनाया है। अब अगर बुधवार देर रात डेटशीट जारी भी की है तो उसमें भी भावी इंजीनियरों का ख्याल रखना भूल गई। ट्विटर पर स्टूडैंट्स की ओर से उड़ाए जा रहे मजाक से हो रही किरकरी के चलते बोर्ड ने जल्दबाजी में डेटशीट जारी करते वक्त इस बात की ओर ध्यान नहीं दिया कि स्टूडैंट्स की सुविधा का ध्यान भी रखना है। सी.बी.एस.ई. की ओर से जारी डेटशीट उन भावी इंजीनियरों के लिए किसी मुसीबत से कम नहीं है जिन्होंने नॉन मैडीकल के ऑप्शनल विषय के रूप में फिजीकल एजुकेशन को चुना हुआ है। बोर्ड ने 8 अप्रैल को ली जाने वाली जे.ई.ई. मेंस की परीक्षा के अगले ही दिन 9 अप्रैल को फिजीकल एजुकेशन का पेपर रख दिया है।  


जे.ई.ई. मेंस और बोर्ड एग्जाम सी.बी.एस.ई. ने करनी है कंडक्ट
ताजुब की बात तो यह है कि प्रतियोगी परीक्षा जे.ई.ई. मेन्स का पेपर भी सी.बी.एस.ई. ने ही कंडक्ट करना है। ऐसे में दोनों परीक्षाओं की डेटशीट तैयार करते समय बोर्ड ने इस बात का बिल्कुल भी ध्यान नहीं रखा कि 8 अप्रैल को मेंस का एग्जाम देने के बाद स्टूडैंट्स अगले ही दिन 9 तारीख को फिजीकल का पेपर कैसे देने पहुंचेंगे। स्टूडैंट्स इतनी टैंशन में हैं कि जे.ई.ई. का एग्जाम ड्रॉप करने के लिए सोचने लगे हैं।  


3000 स्टूडैंट्स दूसरे शहरों में देने जाएंगे जे.ई.ई.
सबसे हैरानी वाली बात तो यह है कि बोर्ड ने जे.ई.ई. मेंस के लिए परीक्षा केंद्र अलग अलग शहरोंं में बनाए हैं। बात अगर लुधियाना की करें तो यहां के करीब 3000 भावी इंजीनियर ऐसे हैं जिनका परीक्षा केंद्र जे.ई.ई. ऑफलाइन एग्जाम के लिए क्रमश: अमृतसर, बठिंडा व चंडीगढ़ में बनाया गया है। विद्यार्थियों ने निराशा व्यक्त करते हुए कहा कि दूसरे शहर में परीक्षा देने के बाद अपने शहर में वापस लौटते समय उन्हें शाम हो जाएगी तो ऐसे में थकावट के बीच वे फिजीकल के एग्जाम की तैयारी कैसे करेंगे।  

फिजीक्स के पेपर के आगे केवल 1 छुट्टी
सबसे अधिक परेशानी सिर्फ मैडीकल व नॉन मैडीकल के विद्यार्थियों के लिए है। विद्यार्थियों ने बताया कि 5 मार्च से शुरू हो रही परीक्षाओं में 7 मार्च को फिजीक्स जैसे पेचीदा विषय का पेपर रख दिया लेकिन इस पेपर के आगे सिर्फ 1 दिन का समय छुटटी के रूप में तैयारी के लिए दिया गया है। 

प्रिंसीपल भी लिखेंगे बोर्ड को पत्र
कई स्टूडैंट्स तो ऐसे हैं जिनका परीक्षा केंद्र दिल्ली में बना दिया गया। उधर, कई स्कूलों के प्रिंसीपलों ने भी बोर्ड को डेटशीट में बदलाव के लिए पत्र लिखने की तैयारी कर ली है। स्कूलों का कहना है कि बोर्ड को स्टूडैंट्स के हित को देखते हुए डेटशीट में चेंज करना चाहिए ताकि उनकी परेशानी खत्म हो सके।  



अपना सही जीवनसंगी चुनिए | केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन