सीटिंग प्लान 297 का, बोर्ड ने 415 परीक्षार्थियों को जारी कर दिए रोल नंबर

Tuesday, March 13, 2018 1:57 PM
सीटिंग प्लान 297 का, बोर्ड ने 415 परीक्षार्थियों को जारी कर दिए रोल नंबर

लुधियाना (विक्की): पी.एस.ई.बी. की 10वीं की सोमवार से शुरू हुई वार्षिक परीक्षाओं के पहले ही दिन सरकारी स्कूल सेखेवाल में बने परीक्षा केन्द्र में उस समय स्थिति अजीबो-गरीब बन गई, जब सीटिंग प्लान से अधिक परीक्षार्थी परीक्षा देने पहुंच गए। ऐसा बोर्ड की जल्दबाजी में हुआ, क्योंकि परीक्षार्थियों के रोल नंबर स्लिप पर उक्त सैंटर अंकित था लेकिन सैंटर सुपरिंटैंडैंट के पास मात्र 297 परीक्षार्थियों की ही कट लिस्ट पहुंची थी। बोर्ड द्वारा इस परीक्षा केन्द्र में परीक्षा देने के लिए 415 परीक्षार्थियों को रोल नंबर जारी कर दिए थे। एकदम से सिटिंग प्लान से अधिक परीक्षार्थियों को परीक्षा देने के लिए पहुंचा देख सैंटर सुपरिंटैंडैंट ने तुरंत बोर्ड से बात की और व्यवस्था करवाकर इनकी परीक्षा ली। यही नहीं पेपर का समय पूरा होने पर जब सभी परीक्षार्थियों की आंसर शीट्स वापस ले ली गई तो उन परीक्षार्थियों ने पेरैंट्स को साथ लेकर उनका पेपर देरी से शुरू होने की शिकायत की। इस पर सुपरिंटैंडैंट ने फिर से बच्चों के भविष्य को देखते हुए उन्हें कुछ समय पेपर पूरा करने के लिए दिया। 

अपना रोल नंबर लिस्ट में न देख घबराए परीक्षार्थी 
हालांकि इससे पहले अपने एडमिट कार्ड लेकर परीक्षा देने पहुंचे कई विद्यार्थी ने जब सैंटर में दाखिल होकर अपना रोल नंबर लिस्ट में नहीं पाया तो वे घबरा गए और परीक्षा कंट्रोलर तथा सैंटर सुपरिंटैंडैंट से बात की। परीक्षार्थियों के एडमिट कार्ड पर स्कूल का सैंटर लिखे होने पर सैंटर अधिकारियों ने बोर्ड से बात की और बोर्ड की ओर से भेजी गई नई कट लिस्ट के आधार पर उक्त परीक्षार्थियों की परीक्षा ली। स्कूल में सिटिंग प्लान से अधिक परीक्षार्थियों के परीक्षा देने पहुंचने के चलते आनन-फानन में 2 कमरे भी खाली करवाए गए। 

253 परीक्षार्थियों का ही भेजा सिग्नेचर चार्ट
जानकारी के मुताबिक बोर्ड की 10वीं की परीक्षाओं के तहत आज अंग्रेजी का पेपर था। ओपन स्कूल के विद्यार्थियों के लिए परीक्षा केन्द्र बने इस स्कूल में पहले बोर्ड ने 297 विद्यार्थियों का सैंटर बनाया था। स्कूल ने बोर्ड की ओर से भेजी गई पहली कट लिस्ट के मुताबिक ही 297 परीक्षार्थियों को बिठाने का इंतजाम शनिवार को सैंटर खुलने पर कर दिया। सैंटर अधिकारी भी उस समय हक्के-बक्के रह गए, जब परीक्षार्थियों से सिग्नेचर करवाने के लिए बोर्ड की ओर से 253 परीक्षार्थियों का ही सिग्नेचर चार्ट भेजा गया। 

परीक्षार्थियों ने कम समय मिलने पर जताया एतराज 
कुछ परीक्षार्थियों ने पेपर के बाद बताया कि उनका पेपर कुछ तकनीकी खामी के कारण आधा घंटा देरी के साथ हुआ लेकिन निगरान ने अन्य विद्यार्थियों के साथ ही उनकी आंसर शीट्स वापस जमा कर ली। इस संबंधी जब उन्होंने अपने पेरैंट्स के साथ जाकर सैंटर सुपरिंटैंडैंट को पूरी बात बताई तो उन्होंने पहले तकनीकी खामी के चलते खराब हुए समय का हवाला देकर उन्हें पेपर पूरा करने के लिए कुछ समय और दिया। 


क्या कहते हैं सैंटर सुपरिंटैंडैंट 
बात करने पर सैंटर सुपरिंटैंडैंट मंदीप सिंह ने कहा कि बोर्ड की ओर से जो कटलिस्ट परीक्षा सामग्री के साथ भेजी गई थी, उसमें 297 परीक्षार्थियों का ही नाम था लेकिन बोर्ड की ओर से 415 विद्यार्थियों को रोल नंबर जारी किए गए थे, जिसके चलते सिटिंग प्लान से अधिक परीक्षार्थी परीक्षा देने पहुंच गए, जिन्हें बोर्ड की ओर से पुन: भेजी गई कटलिस्ट के आधार पर पेपर देने की अनुमति दी गई। वहीं कुछ परीक्षार्थियों को परीक्षा पूरी करने के लिए कुछ फालतू समय दिया गया, क्योंकि उनका पेपर देरी से शुरू हो पाया था।



आप को जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!