आल इंडिया सर्वे ऑफ  हायर एजुकेशन, देश में बढ़े यूनिवर्सिटीज और कालेज बढ़े फिर भी चीन से पीछे

Saturday, January 6, 2018 7:52 AM
आल इंडिया सर्वे ऑफ  हायर एजुकेशन, देश में बढ़े यूनिवर्सिटीज और कालेज बढ़े फिर भी चीन से पीछे

जालन्धर (नरेश): देश में पिछले 5 साल में 197 यूनिवर्सिटीज और 4501 कालेज नए खुले हैं लेकिन इसके बावजूद उच्च शिक्षा में एनरोलमैंट के मामले में हम चीन के मुकाबले काफी पीछे हैं। चीन में ग्रॉस एनरोलमैंट रेश्यो 43.39 प्रतिशत है जबकि भारत में यह महज 26.87 प्रतिशत ही है। 


हालांकि यह आंकड़ा 2015 का है लेकिन तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्थाओं में उच्च शिक्षा के मामले में भारत का इस तरह से पिछडऩा ङ्क्षचता का विषय है। शुक्रवार को मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा देश की उच्च शिक्षा की तस्वीर को पेश करने के लिए जारी किए गए आल इंडिया सर्वे ऑफ  हायर एजुकेशन में ये आंकड़े सामने आए हैं। 


आंकड़ों के मुताबिक पिछले 5 साल में देश में हायर एजुकेशन में 56 लाख विद्यार्थी बढ़े हैं जबकि यूनिवर्सिटीज की संख्या भी 667 से बढ़ कर 864 हो गई है। इस बीच पिछले 5 साल में देश में कालेजों की संख्या 35,525 से बढ़ कर 40,026 हो गई है।  इस रिपोर्ट के मुताबिक 2012-13 में देश में 3 करोड़ 1 लाख विद्यार्थी उच्च शिक्षा हासिल कर रहे थे जिनमें 1.67 करोड़ लड़के और 1.34 करोड़ लड़कियां थीं जबकि 2016-17 में यह आंकड़ा बढ़ कर 3.57 करोड़ हो गया। इसमें लड़कों की संख्या 1.90 करोड़ है जबकि लड़कियों की संख्या 1.67 करोड़ है। 


बिहार में सबसे कम कालेज, तेलंगाना में सबसे ज्यादा 
रिपोर्ट के मुताबिक कालेजों की सबसे कम संख्या बिहार में है जबकि सबसे ज्यादा कालेज तेलंगाना में हैं। तेलंगाना में प्रति 1 लाख विद्यार्थी 59 कालेज हैं और यहां प्रति कालेज 483 छात्र हैं जबकि कर्नाटक में प्रति 1 लाख विद्यार्थी 53 कालेज हैं और प्रति कालेज विद्यार्थियों की संख्या 381 है। पुड्डुचेरी में प्रति 1 लाख विद्यार्थी 49 कालेज हैं और हर कालेज में विद्यार्थियों की औसतन संख्या 549 है, बिहार में प्रति 1 लाख छात्र सिर्फ  7 कालेज हैं और यहां प्रति कालेज विद्यार्थियों की संख्या 1801 है। झारखंड में प्रति 1 लाख विद्यार्थी 8 और पश्चिम बंगाल में प्रति 1 लाख विद्यार्थी 11 कालेज हैं।


बढ़ी विदेशी छात्रों की संख्या 
पिछले 5 साल में विदेशी विद्याॢथयों की संख्या में भी इजाफा हुआ है। 2012 में देश में 34,774 विदेशी विद्यार्थी शिक्षा हासिल कर रहे थे जो 2016-17 में बढ़ कर 47,575 हो गए। इस लिहाज से पिछले 5 साल में देश में उच्च शिक्षा हासिल करने वाले विदेशी विद्यार्थियों की संख्या में 12,801 विद्यार्थियों का इजाफा हुआ है। 



आप को जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!