Love Triangle में ली पति की जान, परिवार ने एेसे बयां किया दर्द

Monday, March 20, 2017 12:21 PM

मोहाली(विनोद राणा): पंजाब कांग्रेस के पूर्व विधायक की भांजी द्वारा पति की गोली मारकर हत्या करने के मामले में कई चौकान्ने वाले तथ्य सामने आए हैं। उल्लेखनीय है कि हत्या करने के बाद आरोपी महिला शव को सूटकेस में डालकर साथी महिला के साथ कार में डाल रही थी। सूटकेस उठा नहीं पाई तो उसने एक ऑटो चालक की मदद मांगी, जिसके बाद उसकी पोल खुली।  पुलिस ने एकम सिंह ढिल्लों (40) के पिता जसपाल सिंह की शिकायत पर उसकी पत्नी सीरत ढिल्लों, उसके भाई करण प्रताप व माता जसविंद्र कौर के खिलाफ केस दर्ज कर सीरत को गिरफ्तार कर लिया है।प्राथमिक पूछताछ में सीरत ने कबूल कर लिया है कि उसने शराब के नशे में अपने पति को गोली मारी थी और पिस्टल का लाइसैंस उसी के नाम है। पुलिस को इस मामले में कई चौकान्ने वाली जानकारियां मिली हैं। 

शनिवार रात एकम ने पिता से सांझा किया था दर्द, रोया भी था
एकम के पिता जसपाल ने बताया कि उसका बेटा शनिवार रात को उनके घर फेज-6 में आया था। जहां उसने उनके साथ खाना भी खाया, लेकिन वह काफी उदास था। जब उन्होंने उससे उदासी का कारण पूछा तो उसने बताया कि वह अपनी पत्नी से बहुत परेशान है। वह उसे रोजाना प्रताडि़त करती है। यह कहते हुए वह रोने लगा। उसके बेटे ने करीब 12 साल पहले सीरत से लव मैरिज की थी इनके दो बच्चे हैं जिनमें एक बेटी 5 साल व बेटा 11 साल का है। एकम असम में नौकरी करता था, जहां से उसकी पत्नी ने उसकी नौकरी छुड़वा दी उसके बाद वह चंडीगढ के एक होटल में काम करने लगा। उसने उसे वहां भी काम नहीं करने दिया। वह पहले चंडीगढ़ सैक्टर-35 में किराए के मकान में रहते थे उसके बाद वह मोहाली फेज 3बी1 में रहने लगे। 3बी1 में उन्हें रहते हुए करीब 20 दिन ही हुए थे। एकम की सास भी उनके साथ ही रहती थी। सीरत की अपने भाई से नहीं बनती थी, जिसके बाद मामा ने ही सीरत की शादी करवाई थी। 

बुआ बोली-शराब पीती है सीरत 
मृतक की बुआ जसवीर कौर ने आरोप लगाया कि सीरत शराब पीती है। उसने बड़े-बड़े शौक पाले हुए हैं, जिन्हें पूरा करने के लिए वह कुछ भी कर सकती है। एकम को वह काफी समय से प्रताडि़त करती थी और इसमें उसके परिजन भी उसका साथ देते थे।

बेटा बोला-रात को घर पर आया था कोई
एकम के बेटे गुरनिवास ने कहा कि शनिवार रात उनके घर में कोई शख्स आया था और उसकी मां उसके पिता से रोजाना किसी न किसी बात को लेकर झगड़ा करती थी। इससे उसके पिता काफी परेशान रहते थे। वारदात को अंजाम देने के बाद सीरत घर से जाते समय अपने बेटे गुरनिवास को यह कहकर चली गई कि तुम्हारे पिता दफ्तर गए हैं और वह मार्कीट जा रही है। 


 



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!