बाबू को ढूंढने के लिए कराची से पहुंचा परिवार, मांगी सुषमा से मदद

Tuesday, March 13, 2018 3:25 PM

नर्इ दिल्लीः एक पाकिस्तानी नागरिक देवसी बाबू भारत में लापता हैं, उसको ढूंढने की उम्मीद लेकर उसके परिवार के सदस्य सोमवार को अटारी के रास्ते भारत पहुंचे। 

लापता पाकिस्तानी नागरिक को ढूंढने के लिए परिवार के सदस्य विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से मदद चाहते है। देवसी बाबू की पत्नी ललिता देवी, पुत्र कांती लाल, भार्इ विट्ठल ने कहा कि वे बाबू को ढूंढने लिए पहले आना चाहते थे मगर उन्हें वीजा नहीं मिला। इसलिए उन्होंने धार्मिक जत्थे (तीर्थ स्थल) में शामिल होने का फैसला किया तांकि वे यहां बाबू को ढूंढ सके। ललिता ने बातचीत करते हुए कहा कि लम्बे इंतजार के बाद  अंततः  हम यहां पहुंच गए। अब हमे आशा है कि भारत की विदेश मंत्री सुष्मा स्वराज हमारी बात को सुनेंगी, जो हमेशा ही दूसरों की मदद करती है। 

कराची निवासी बाबू भी उस 43 सदस्य हिंदू जत्थे का एक हिस्सा था जब वह 3 जनवरी 2017 को अमृतसर में लापता हो गया था। ललीता ने अगले दिन ही सुल्तानविंड पुलिस स्टेशन में अपने पति के लापता होने के बारे में शिकायत दर्ज करवा दी थी। केंद्रीय मंत्री को भावनात्मक अपील करते हुए ललिता ने कहा कि एक महिला होने के नाते सुषमा मेरी भावनाओं को समझेंगी और केंद्रीय मंत्री से अनुरोध किया कि वह बाबू को ढूंढने में उनकी मदद करें। यद्यपि ललिता के परिजनों के पास केवल अमृतसर का वीजा है सूत्रों ने कहा कि उन्होंने दिल्ली का वीजा प्राप्त करने के लिए सुषमा से मुलाकात के लिए आवेदन दिया है। बाबू के पुत्र विट्ठल ने कहा कि हमे उम्मीद है कि हम अपने पिता को ढूंढ लेंगे। उसने आगे कहा कि सुषमा ने हमेशा ही जरूरतमंद लोगों की मदद की हैं जिन्होंने अपनी आपबीति उन्हें बतार्इ। 


 



आप को जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!