गुरदासपुर उपचुनाव के लिए जिला प्रशासन ने कसी कमर

Wednesday, September 13, 2017 9:18 PM
गुरदासपुर उपचुनाव के लिए जिला प्रशासन ने कसी कमर

गुरदासपुर: गुरदासपुर लोकसभा सीट के लिए 11 अक्टूबर को होने वाले उप चुनाव के लिए गुरदासपुर और पठानकोट जिला प्रशासन ने कमर कस ली है तथा स्वतंत्र एवं निष्पक्ष चुनाव सुनिश्चित करने की प्रतिबद्धता जताई है। चुनाव को लेकर गुरदासपुर और पठानकोट जिलों के प्रशासनिक और पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों की आज यहां एक संयुक्त बैठक हुई।


बैठक की अध्यक्षता गुरदासपुर जिला उपायुक्त एवं मतदान अधिकारी गुरलवलीन सिंह सिद्धू ने की जिसमें पठानकोट के अतिरिक्त उपायुक्त नीलिमा बटाला के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) उपिंदरजीत सिंह तथा पठानकोट के एसएसपी विवेक के. सोनी ने भाग लिया। सिद्धू ने कहा कि 11 सितंबर को उपचुनाव की घोषणा होने के साथ ही चुनाव आचार संहिता लागू हो गई है तथा किसी को इसका उल्लंघन करने की इजाजत नहीं दी जाएगी। 

 

उन्होंने सरकारी, निजी और सार्वजनिक स्थलों पर लगाए  गये सभी बैनर और होर्डिंग तत्काल हटाने के आदेश दिए। उन्होंने बताया कि दोनों जिलों में फ्लाइग स्क्वाड, निगरानी टीमें, वीडियो निगरानी और चुनाव खर्च निगरानी टीमें गठित कर ली गई हैं। सिद्धू के अनुसार उपचुनाव के लिए नामांकन प्रकिया 15 सितंबर से शुरू होगी जो 22 सितंबर तक जारी रहेगी। सत्ताईस सितंबर को उम्मीदवार अपने नामांकन वापिस ले सकेंगे। मतदान 11 अक्टूबर को तथा मतगणना 17 अक्टूबर को होगी।  

 

इस चुनाव में कुल 1517436 मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल करेंगे जिनमें 785126 महिला मतदाता और 27811 सर्विस मतदाता हैं। चुनाव के लिए 1781 मतदान केंद्र बनाएं जाएंगे। उल्लेखनीय है गुरदासपुर लोकसभा सीट भाजपा सांसद विनोद खन्ना के निधन के कारण रिक्त हुई है। इस सीट पर वर्ष 1951 से लेकर 2014 तक 17 चुनाव हुए हैं जिनमें से खन्ना इस सीट से चार बार 1998,1999, 2004 और 2014 में सांसद चुने गए। हालांकि इस सीट पर 1951 से लेकर 2009 तक 11 बार कांग्रेस प्रत्याशी चुने गए। दो बार एनसीजे और बीएलडी प्रत्याशी यहां सांसद रहे।



यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!