ईमानदार छवि वाले अधिकारी की मंत्री के आगे एक न चली !

Monday, July 17, 2017 1:22 PM
ईमानदार छवि वाले अधिकारी की मंत्री के आगे एक न चली !

जालंधर (पांडे): वाह रे पंजाब शिक्षा विभाग! एक तरफ कांग्रेस सरकार प्रदेश की शिक्षा का स्तर ऊंचा उठाने के लिए कई तरह दावे कर रही है, वहीं दूसरी तरफ शिक्षा विभाग में किए गए स्थानांतरणों से कई तरह के सवाल उठने लगे हैं क्योंकि शिक्षा विभाग की स्थानांतरणों की लिस्ट में जूनियर को डिप्टी डी.ई.ओ. तथा सीनियर को प्रिंसीपल लगाया गया है। 

इन स्थानांतरणों से यह चर्चा आम है कि जिले के शिक्षा विभाग में अब जूनियर सीनियर की चैकिंग किया करेंगे। लोगों में यह चर्चा है कि एक ईमानदार छवि वाले अधिकारी की मंत्री के आगे एक न चली, यदि चली होती तो ये स्थानांतरण न हुए होते। जारी लिस्ट के मुताबिक शिक्षा सचिव कृष्ण कुमार द्वारा किए स्थानांतरणों में डी.ई.ओ. प्राइमरी के रूप में तैनात गुरप्रीत कौर का स्थानांतरण डिप्टी डी.ई.ओ. सैकेंडरी में कर दिया है जबकि गुरप्रीत कौर से काफी सीनियर में पूर्व डी.ई.ओज हरिन्द्र सिंह, मस्सा सिंह, प्रेम कुमार, सुनीता सहोता तथा पूर्व डिप्टी डी.ई.ओ. रणवीर सिंह (स्वामी) को प्रिंसीपल लगाया गया है। आखिरकार क्या कारण है कि गुरप्रीत कौर अपने स्थानांतरण करवाने में हर वक्त कामयाब है, क्यों गुरप्रीत कौर घूम-घुमा कर जिले के शिक्षा विभाग में डी.ई.ओ. प्राइमरी, डिप्टी डी.ई.ओ. सैकेंडरी तथा प्राइमरी, डिप्टी सी.ई.ओ. जालंधर सर्कल में तैनात रही है। अब फिर एक बार अपनी राजनीतिक पहुंच के चलते सैकेंडरी में डिप्टी डी.ई.ओ. पद पाने में सफल हो गई है। 

सूत्रों के मुताबिक कांग्रेस के एक पूर्व सांसद की उक्त स्थानांतरण में काफी पहुंच है जिसके चलते गुरप्रीत कौर हर बार अपना स्थानांतरण अधिकारी के रूप में करवाने में सफल रही है। पी.ई.एस. अधिकारियों के स्थानांतरणों में शिक्षा विभाग ने एक बार पुन: गलती कर दी है। जो स्थानांतरण किए गए हैं उनकी लिस्ट के मुताबिक शहर के एक ही स्कूल में पूर्व डी.ई.ओ. सुनीता सहोता तथा सरकारी सी.सै. स्कूल नकोदर की प्रिंसीपल वरिन्द्र कौर को सरकारी माडल सीनियर सैकेंडरी स्कूल को प्रिंसीपल लगाया गया है। वहीं डिप्टी डी.ई.ओ. सतपाल को सरकारी सीनियर सैकेंडरी स्कूल लाडोवाली का प्रिंसीपल लगाया गया है जबकि लाडोवाली रोड में उक्त नाम का कोई स्कूल है ही नहीं। इस तरह स्थानांतरणों में विभाग ने एक बार फिर गड़बड़ी कर दी। 



विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में निःशुल्क रजिस्टर करें !