जाखड़ ने राज्यपाल से शिअद की मुलाकात पर किया पलटवार

Friday, January 12, 2018 5:06 PM
जाखड़ ने राज्यपाल से शिअद की मुलाकात पर किया पलटवार

जालंधर(धवन): पंजाब कांगे्रस ने शिरोमणि अकाली दल द्वारा आज किसानों के कर्ज माफी को लेकर राज्यपाल से मुलाकात करने के मामले में पलटवार करते हुए अकाली नेतृत्व से पूछा है कि 10 वर्षों तक उनके हाथों में पंजाब की कमान रही। परंतु उन्होंने पंजाब के किसानों का कर्जा माफ करने के लिए क्या कदम उठाएं। इसके बारे में अकाली नेतृत्व को अपनी स्थिति स्पष्ट करनी चाहिए।

उन्होंने कहा कि अब अकाली दल के नेता राज्यपाल से मिलकर किसानों का कर्जा माफ करने की दुहाई दे रहे है परंतु जब अकाली सत्ता में थे तो उस समय उन्होंने एक भी किसान का कर्जा माफ नहीं किया जबकि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेन्द्र सिंह ने तो छोटे किसानों का 2-2 लाख रुपए का कर्जा माफ कर दिया है। उन्होंने कहा कि अकाली जत्थेदारों को ङ्क्षचता यह है कि 80-80 लाख का कर्जा लेने वाले अकाली हितेषियों का कर्जा माफ क्यों नहीं हुआ। उन्होंने कहा कि अगर छोटे किसानों का कर्जा माफ हो रहा है तो अकालियों को क्यों पीड़ा हो रही है।

उन्होंने कहा कि केन्द्र में अकाली दल की सहयोगी पार्टी भाजपा की सरकार है परंतु अकाली दल ने केन्द्र सरकार से एक बार भी मुलाकात नहीं की जिसमें उन्होंने किसानों का कर्जा माफ करने की वकालत की हो। उन्होंने कहा कि राज्य में बेअदबी की घटनाओं की जांच कमीशन द्वारा की जा रही है। जिसकी रिपोर्ट आने पर अकाली दल में और भी खलबली मच जाएगी। उन्होंने कहा कि अकाली दल की नकारात्मक सोच के कारण ही जनता ने पहले विधानसभा चुनावों फिर गुरदासपुर उपचुनाव अब कार्पोरेशन चुनावों में भी अकाली दल को पूरी तरह से ठुकरा दिया है। उन्होंने कहा कि केन्द्र की भाजपा सरकार ने पिछले 3 वर्षों में किसानों का कर्जा माफ करने के लिए एक भी पैसा खर्च नहीं किया। पंजाब में कैप्टन अमरेन्द्र सिंह सरकार ने अन्य सभी राज्यों की तुलना में सबसे अधिक राशि किसानों की माफ की है जो अकाली दल को हजम नहीं हो रही है। उन्होंने कहा कि किसान अब सूझवान है तथा वह अकाली दल के झांसे में आने वाले नहीं है जिन्होंने 10 वर्षों में लूटमार, माफिया राज के सिवाय पंजाब को कुछ नहीं दिया।



आप को जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!