जीजा द्वारा बहन को दिए धोखे का दुख न सहन कर पाया भाई, उठाया खौफनाक कदम

punjabkesari.in Sunday, Nov 27, 2022 - 12:19 PM (IST)

कोटकपूरा (नरिन्द्र): स्थानीय मोहल्ला कश्मीरियां में अपने चाचा के घर मिलने आए 30 वर्षीय नौजवान द्वारा फंदा लगाकर आत्महत्या कर लेने का पता लगा है। मृतक की पहचान लुधियाना के जनता नगर निवासी विनय मनचंदा के रूप में हुई। इस मामले में थाना सिटी पुलिस द्वारा मृतक के पिता लेखराज के बयानों पर धोखाधड़ी करने वाले परिवार के दामाद राम नगर कालोनी अमृतसर निवासी ईशान अरोड़ा के खिलाफ केस दर्ज करके कार्रवाई की जा रही है और शव को फरीदकोट के गुरु गोबिंद सिंह मैडीकल कॉलेज व अस्पताल में पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।

पुलिस को दिए बयानों में लेखराज ने बताया कि उन्होंने अपनी बेटी का रिश्ता अप्रैल 2021 में अमृतसर निवासी ईशान अरोड़ा के साथ किया था और 10-15 दिनों में विवाह पंजीकरण करवाने के लिए लुधियाना में फेरे करवा कर पुजारी से प्रमाण पत्र ले लिया था। उन्होंने बताया कि इस समारोह में ईशान के माता-पिता व अन्य पारिवारिक सदस्य भी शामिल हुए थे। इसके बावजूद ईशान अरोड़ा व उसके माता पिता, उनकी बेटी को अपने साथ नहीं लेकर गए थे। इस दौरान दोनों परिवारों का आना-जाना होता रहा और उनकी बेटी के विवाह का अमृतसर के सुविधा सैंटर से पंजीकरण भी करवा लिया गया। इस दौरान ईशान अरोड़ा का वीजा रिफ्यूज हो गया लेकिन इसके बारे में ईशान या उसके परिवार ने कोई जानकारी नहीं दी बल्कि हमारे परिवार से यू.के. का वीजा लगवाने के लिए फंड दिखाने के लिए 10 लाख की डिमांड रखी।

उन्होंने रिश्तेदारों से पैसे एकत्रित किए जिसे ईशान ने उनकी बेटी के नाम पर पंजाब एंड सिंध बैंक अमृतसर के खाते में 10 लाख रुपए जमा करवाए और बाद में इस रकम को ईशान अरोड़ा व उनके परिवार ने अपने खाते में ट्रांसफर कर लिया। इसके बावजूद ईशान अरोड़ा व उसका परिवार न तो उनकी बेटी को ससुराल घर लेकर गया और न ही उसका वीजा लगवाया।

इस मामले में लुधियाना पुलिस को शिकायत भी दी लेकिन पुलिस ने इसे पारिवारिक विवाद बताकर शिकायत पर कोई कार्रवाई नहीं की। उन्होंने बताया कि परिवार के साथ हुई धोखाधड़ी से उनका बेटा विनय मनचंदा परेशान रहता था और कुछ दिन पहले 22 नवम्बर को वह कोटकपूरा में अपने चाचा हरीश कुमार के पास आया था, जहां उसने फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली। उसकी जेब से एक सुसाइड नोट भी मिला जिसमें उसने अपने मौत के लिए परिवार के साथ धोखाधड़ी करने वाले ईशान अरोड़ा को जिम्मेदार ठहराया है। जांच अधिकारी ए.एस.आई चमकौर सिंह ने बताया कि पुलिस ने लेखराज के बयान ईशान अरोड़ा के खिलाफ केस दर्ज करके कार्रवाई की है और शव को पोस्टमार्टम के बाद वारिसों को सौंप दिया जाएगा।

अपने शहर की खबरें Whatsapp पर पढ़ने के लिए Click Here

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

Kalash

Related News

Recommended News