30 घंटे बीतने के बाद भी लैब सुपरिंटैंडैंट का नहीं मिला कोई सुराग

4/17/2019 4:18:59 PM

फिरोजपुर(कुमार): शहीद भगत सिंह स्टेट टैक्नीकल कैंपस फिरोजपुर में बीते दिन होस्टल के कमरे में कॉलेज के बी.टैक. के 21 वर्षीय छात्र मुनीश यादव का संदिग्ध हालत में पंखे से लटकता शव मिला था और अगले दिन से ही एस.बी.एस. स्टेट टैक्नीकल कैंपस का करीब 47 वर्षीय लैब सुपरिंटैंडैंट गुरमीत सिंह पुत्र गुरबचन सिंह निवासी सीगनवाल होशियारपुर संदिग्ध हालत में लापता है जिसका स्कूटर नहर के किनारे खड़ा मिला था। 

कुछ लोगों का कहना है कि इलैक्ट्रॉनिक्स लैब सुपरिंटैंडैंट गुरमीत सिंह ने खुद नहर में छलांग लगा दी है जबकि कुछ लोगों का कहना है कि वह कोई सामग्री जल प्रवाह करने के लिए गए थे जहां उनका पैर फिसल गया और वह पानी में डूब गए।  सूचना मिलने से लेकर अब तक पुलिस गौताखोरों की मदद से गुरमीत सिंह का सुराग लगाने के लिए बड़े स्तर पर प्रयास किया जा रहा है। मगर &0 घंटे बीत जाने पर भी अभी तक उसका कोई सुराग नहीं लगा। गुरदीप सिंह लैब सुपरिंटैंडैंट की पत्नी अध्यापिका है और उसका 1 बेटा तथा 1 बेटी हैं। कॉलेज और परिवार वाले सदमे में हैं। 

एस.बी.एस. स्टेट टैक्नीकल कॉलेज फिरोजपुर के कई छात्रों ने नाम प्रकाशित न करने की शर्त पर पंजाब के मुख्यमंत्री और डी.जी.पी. पंजाब से मांग की कि इस कॉलेज में संदिग्ध हालत में छात्र मनीश यादव के मिले शव और लैब सुपरिंटैंडैंट गुरमीत सिंह के संदिग्ध हालत में नहर में डूबने की घटनाओं की उच्च स्तरीय निष्पक्ष जांच करवाई जाए।छात्रों ने कहा कि इससे पहले भी संदिग्ध हालत में मरे शहीद भगत सिंह स्टेट टैक्नीकल कैंपस के छात्रों की मौत की फाइलें भी खोली जानी चाहिएं। उन्होंने मांग की कि इन मौतों की सच्चाई आम लोगों और मृतकों के परिवारों के सामने लाई जानी चाहिए दूसरी ओर फिरोजपुर पुलिस का कहना है कि लैब सुपरिंटैंडैंट गुरमीत सिंह की तलाश की जा रही है और पता लगाया जा रहा है कि वह नहर में कैसे, क्यों तथा किन हालात में डूबा। समाचार लिखे जाने तक लैब सुपरिंटैंडैंट गुरमीत सिंह का नहर में डूबना रहस्यमयी बना हुआ था। 


Vatika

Related News