किसानों ने रोष प्रदर्शन दौरान नायब तहसीलदार को बनाया बंदी

punjabkesari.in Tuesday, Mar 29, 2022 - 03:07 PM (IST)

लंबी (शाम जुनेजा) : गुलाबी सुंडी के मुआवजे के लिए धरना तथा रोष प्रदर्शन कर रहे किसान संगठनों द्वारा घेराव के बाद नायब तहसीलदार लंबी व स्टाफ सदस्यों को कार्यालय में बंदी बना लिया गया। इस बीच स्थिति तब तनावपूर्ण हो गई जब पुलिस ने सोमवार और मंगलवार की आधी रात को प्रदर्शन कर रहे किसानों को तितर-बितर करने के लिए बल प्रयोग किया। इस घटना में 7 किसान घायल हो गए, जबकि पंजाब पुलिस का एक सिपाही भी घायल हो गया। घायलों को लंबी और मलौट के सरकारी अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। घटना के बाद पुलिस ने 10 किसान नेताओं के खिलाफ सरकारी कामकाज में बाधा डालने और कर्मचारियों को हिरासत में लेने समेत विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज किया है। हड़ताल अनिश्चितकाल के लिए शुरू हो गई है। पंजाब राजस्व अधिकारी संघ ने किसानों द्वारा बंदी बनाए जाने के विरोध में आज से अनिश्चितकालीन हड़ताल शुरू कर दी है।

गौरतलब है कि कपास की फसल के मुआवजे हेतु प्रशासन की नीति विरुद्ध भारतीय किसान संघ एकता उग्रराहां द्वारा सोमवार को उप तहसील लंबी में धरना और रोष प्रदर्शन शुरू किया था। शाम तक अधिकारियों व किसानों की बातचीत का ठोस हल न निकलने पर किसानों ने दोपहर 3 बजे के बाद पुलिस ने नायब तहसीलदार के कार्यालय को घेर लिया तथा अधिकारी सहित कर्मचारी को बंदी बना लिया गया है। एस.डी.एम. मलौट प्रमोद सिंगला और डी.एस.पी. मलौट जसपाल सिंह ढिल्लों मौके पर पहुंचे। ट्रेड यूनियनों के नेता भी देर रात किसानों से बात करने पहुंचे लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ। अंतत: एस.डी.एम. द्वारा पुलिस को दिए गए लिखित निर्देश का पालन करते हुए एस.पी. मुख्यालय जगदीश कुमार बिश्नोई व डी.एस.पी. मलौट जसपाल सिंह ढिल्लों के नेतृत्व में पुलिस ने किसानों को जबरन खदेड़ दिया और नायब तहसीलदार सहित कर्मचारियों को छुड़वाया गया। 

हालांकि पुलिस ने लाठीचार्ज से इनकार किया, लेकिन किसान नेताओं ने कहा कि पुलिस ने लाठीचार्ज के दौरान किसानों के साथ आई महिलाओं को भी नहीं बख्शा और अंधाधुंध लाठीयां चलाई। पुलिस के लाठीचार्ज में मजदूर यूनियन के काला सिंह के अलावा युवा भारत सभा के नेता जगदीप खुड्डीठां, सुरिंदर सिंह मान्नां, निशान सिंह कक्खांवाली, सांसद सिंह भुल्लरवाला, रच्छपाल सिंह घग्गड़ और गुरलाल सिंह कक्खावाली घायल हो गए और उन्हें लंबी सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया। इस मौके पर पंजाब के मजदूर यूनियन के प्रधान काला सिंह खुन्नन  खुर्द सहित नेताओं ने कहा कि पुलिस ने आम आदमी पार्टी के इशारे पर सरकार बनने के कुछ दिनों बाद ही कार्रवाई शुरू कर दी है। इस घटना में पंजाब पुलिस के एक सहायक पुलिस अधीक्षक सुखदेव सिंह भी घायल हो गए और उन्हें मलौट के सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।।

अपने शहर की खबरें Whatsapp पर पढ़ने के लिए Click Here

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

Kamini

Related News

Recommended News