प्राकृतिक रूप से जन्मा है Coronavirus, किसी लैब में नहीं किया गया है तैयार

3/24/2020 1:24:58 PM

जालंधर। कोरोनावायरस (कोविद-19) को लेकर यह भी भ्रांति है कि इसे किसी लैब में तैयार किया गया है। हाल ही में एक शोध के मुताबिक यह वायरस प्राकृतिक रूप से जन्मा है। यह शोध जर्नल "नेचर मेडिसिन" में प्रकाशित हुआ है। डाउन टू अर्थ की रिपार्ट के मुताबिक इस शोध से जुड़े वैज्ञानिक क्रिस्चियन एंडरसन, जोकि स्क्रिप्स रिसर्च में इम्यूनोलॉजी और माइक्रोबायोलॉजी के एसोसिएट प्रोफेसर भी हैं ने बताया कि "अभी तक कोविद-19 और उससे सम्बंधित वायरस के जीनोम सिक्वेंसिंग डेटा के विश्लेषण के बाद हम निश्चित तौर पर कह सकते है कि इस वायरस 'सार्स-कोव-2' को कृत्रिम रूप से नहीं बनाया गया है। यह वायरस प्राकृतिक प्रक्रियाओं के माध्यम से उत्पन्न हुआ है।" गौरतलब है कि कोरोना वायरस (कोविद-19), एक खतरनाक वायरस परिवार का हिस्सा है। जो व्यापक रूप से फैल सकता है और गंभीर बीमारियों का कारण बन सकता है।

PunjabKesari

इससे जुडी पहली महामारी 2003 में सार्स के रूप में चीन से ही फैली थी। जबकि 2012 में दूसरी बार सऊदी अरब से मिडिल ईस्ट रेस्पिरेटरी सिंड्रोम (मर्स) के रूप में इस गंभीर बीमारी का प्रकोप शुरू हुआ था।  दुनिया भर में शोधकर्ता इस वायरस से निपटने का इलाज ढूंढ रहे हैं। पर अब तक किसी को सफलता नहीं मिली है। ऐसे में अपने आप को और दूसरों को इस वायरस से बचाना ही इस वायरस से निपटने का एक मात्रा तरीका है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार निम्नलिखित सावधानियों की मदद से हम अपने साथ-साथ दूसरों को भी इस वायरस बचा सकते हैं।


Suraj Thakur

Related News