Punjab: डिप्रेशन व बेरोजगारी के चलते 100 लोगों ने दे दी जान, घरेलू हिंसा के 15 सौ मामले

6/29/2020 12:29:12 PM

लुधियाना। पंजाब में कोरोनावायरस के प्रकोप के साथ-साथ आपराधिक घटनाओं के केस भी बढ़ते जा रहे हैं। एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक पंजाब के लुधियाना जिला की बात करें तो यहां लॉकडाउन से पहले घरेलू हिंसा के 850 मामले दर्ज किए गए थे इसक अलावा 60 लोगों ने सुसाइड भी किया था। लॉकडाउन और कोरोना के कहर के बीच दौरन घरेलू हिंसा के मामलों की संख्या 1500 के करीब जा पहुंची है जबकि 100 लोग सुसाइड कर चुके हैं। लुधियाना के डीसीपी अखिल चौधरी ने न्यूज एजेंसी एएनआई में दिए एक बयान में इस बात की पुष्टि की है।

लॉकडाउन के दौरान सुसाइड के जितने भी मामले सामने आए हैं, उनकी वजह प्राथमिक जांच में डिप्रेशन, आर्थिक तंगी और बेरोजगार होना पाया गया है। जांच से यह भी पता चला है कि सुसाइड करने वालों में अधिकांश लोग 30 से 40 साल की उम्र के हैं। गौरतलब है कि पंजाब में कोरोनावायरस और लॉकडाउन के कारण यहां के उद्योगों पर व्यापक असर पड़ा है। हजारों लोग बेरोजगार हो चुके हैं। लुधियाना शहर देश के उद्योगों का हब माना जाता है। यहां पर कई उद्योगों पर ताले लग चुके हैं। काफी प्रवासी लोग बेरोजगार होने के बाद अपने राज्यों की ओर पलायन भी कर चुके हैं। 


Suraj Thakur

Related News