अध्यापकों ने फूंकी प्रोबेशन पीरियड की सेवा के दौरान ए.सी.पी. स्कीम का लाभ न देने वाले पत्र की कापियां

11/17/2020 8:48:40 PM

लुधियाना (विक्की) : गवर्नमेंट स्कूल टीचर्स यूनियन पंजाब के प्रांतीय अध्यक्ष सुरिंदर कुमार पुआरी और प्रांतीय सचिव बलकार वलटोहा के नेतृत्व में लिए फ़ैसले के अनुसार आज ज़िला लुधियाना इकाई द्वारा सरपरस्त चरन सिंह सराभा और सचिव परवीन कुमार के नेतृत्व में शिक्षा विभाग के उस पत्र की कापियों जलाई गई जिस अनुसार 15 जनवरी 2015 के उपरांत नियुक्त अध्यापकों और कर्मचारिओं को प्रोबेशन पीरियड के दौरान की दो या तीन वर्ष की सेवा को ए.सी.पी. स्कीम में न गिनने का फ़ैसला किया गया है। उन्होंने बताया कि माननीय सुप्रीम कोर्ट द्वारा ‘बराबर काम बदले बराबर वेतन के दिशा -निर्देशों के बावज़ूद पंजाब की कैप्टन सरकार द्वारा यह भेदभाव जारी रखा जा रहा है। नेताओं ने कहा कि अब 4-9-14 वर्ष की सेवा पूरी होने पर ए.सी.पी. स्कीम के अंतर्गत एक विशेष वार्षिक तरक़्की का केस भेजने समय डायरैक्टर शिक्षा विभाग पंजाब (सेकंडरी शिक्षा) ने 10 नवंबर 2020 को जारी किए पत्र में नियमों का हवाला देते हुए प्रोबेशन पीरियड के दौरान की गई सेवा को गिनने से इन्कार कर दिया है, जो सरासर अन्याय है। उन्होंने पंजाब सरकार से माँग करते हुए कहा कि प्रोबेशन पीरियड के दौरान की सेवा ए.सी.पी. सहित पेंशन और अन्य सब लाभों के लिए गिनी जाए वह संघर्ष को और तेज़ कर देंगे। अन्य के अलावा इस अवसर पर जगमेल पक्खोवाल, टहल सिंह सराभा,भजन सिंह, जसविंदरपाल सिंह हरी देव, संजीव शर्मा, मनीष शर्मा, जोरा सिंह बस्सियां, बलबीर सिंह कंग,ज्ञान सिंह, परमिंदरपाल सिंह रामगढ़, संजीव यादव आदि नेता उपस्थित थे।


Vicky Sharma

Related News