कोरोना से जान बचाने के लिए समय पर टेस्टिंग और अस्पताल जाना जरूरी: सोनी

punjabkesari.in Thursday, Sep 10, 2020 - 10:46 AM (IST)

पटियाला(राजेश पंजोला): पंजाब के मैडीकल शिक्षा और खोज विभाग के मंत्री ओ.पी. सोनी ने कहा कि कोरोना से जान बचाने के लिए समय पर टेस्टिंग और अस्पताल जाना जरूरी है। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेन्द्र सिंह पंजाब में कोविड के विरुद्ध जंग को हर स्तर पर बहुत बारीकी के साथ देख रहे हैं और पंजाब सरकार टेस्टिंग पर प्रतिदिन 2 करोड़ रुपए खर्च कर रही है।

श्री सोनी प्रमुख सचिव डी.के. तिवाड़ी सहित सरकारी राजेन्द्रा अस्पताल में इलाज प्रबंधों का जायजा लेने आए थे। उन्होंने कहा कि पंजाब के तीनों ही मैडीकल कालेज कोविड विरुद्ध जंग में अहम योगदान डाल रहे हैं और स्तर-2 और स्तर-3 (गंभीर और अन्य बीमारियों के साथ ग्रसित) मरीजों का डाक्टर बहुत ही तनदेही से इलाज कर रहे हैं। सोनी ने बताया कि पंजाब में 3 मैडीकल कालेजों सहित 7 सरकारी लैबोरेटरियों में प्रतिदिन की टैसिं्टग की संख्या 20 हजार की समर्था पर पहुंच गई है। उन्होंने कहा कि कोविड मरीज की मौत होने पर उसका सामान वारिसों तक सुरक्षित पहुंचाना संबंधित मैडीकल सुपरिंटैंडैंट की जिम्मेदारी है। यदि इस संबंधी कोई शिकायत हो तो संबंधित जिलों के डिप्टी कमिश्नर को की जा सकती है।

सरकारी मैडीकल कालेजों में फीसें बढ़ाने के मुद्दे पर श्री सोनी ने कहा कि सरकारी कालेजों की फीस नाममात्र ही बढ़ाई गई है जबकि निजी मैडीकल कालेजों की फालतू फीसें घटा कर उनमें समानता लाई गई है। श्री सोनी ने प्रिंसीपल मैडीकल कालेज और मैडीकल सुपरिंटैंडैंट को हिदायत की कि कोविड के साथ होने वाली हर मौत का विश्लेषण किया जाए, जिस पर डाक्टरों ने बताया कि इस संबंधी एक उच्च स्तरीय कमेटी प्रतिदिन मीटिंग करके विश्लेषण करती है, जिससे यह सामने आया है कि पहले 48 घंटों में जो मौतें हो रही हैं, वे मरीज बहुत ही गंभीर हालत में अस्पताल पहुंचे थे।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Vaneet

Related News

Recommended News