पंजाब में बी.एस.एफ. के अधिकार क्षेत्र को बढ़ाने पर ''आप'' का बड़ा बयान

10/14/2021 7:54:40 PM

चंडीगढ़ : आम आदमी पार्टी (आप) ने सीमा सुरक्षा बल (बी.एस.एफ.) के अधिकार क्षेत्र को 15 किलोमीटर से बढ़ाकर 50 किलोमीटर तक करने के फैसले पर केंद्र सरकार की निंदा करते हुए इसे देश के संघीय ढांचे पर सीधा हमला करार दिया है। उन्होंने कहा कि यह मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार की राज्यों को उनके अधिकारों से वंचित करने की साजिश है। आम आदमी पार्टी ने मांग की कि केंद्र सरकार को इस घातक फैसले को तुरंत वापस लेना चाहिए और राज्यों के अधिकार क्षेत्र में दखल देना बंद करना चाहिए।

'आप' के वरिष्ठ नेता हरपाल सिंह चीमा ने पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी से इस संबंध में एक सर्वदलीय बैठक बुलाने और केंद्र सरकार से बातचीत के लिए एक संयुक्त प्रतिनिधिमंडल ले जाने की मांग की है। साथ ही उन्होंने विधानसभा का विशेष सत्र बुलाकर इस फैसले के खिलाफ निंदा प्रस्ताव लाने और इस निर्णय को रद्द करने की मांग भी की है।

उन्होंने कहा कि इस फैसले ने बी.एस.एफ. को अंतर्राष्ट्रीय सीमा से 50 किलोमीटर तक घरों की तलाशी लेने और गिरफ्तारी का अधिकार दिया है। चीमा ने कहा कि इस फैसले से पठानकोट, गुरदासपुर, अमृतसर, तरनतारन, फिरोजपुर और फाजिल्का सहित पंजाब के छह जिले प्रभावित होंगे। 

चीमा ने मुख्यमंत्री चन्नी से पूछा कि हाल ही में उनकी गृह मंत्री से हुई बैठक में ऐसी क्या बातचीत हुई, जिससे गृह मंत्रालय को ऐसा निर्णय लेने का बहाना मिल गया।
 हरपाल सिंह चीमा ने कहा कि कैप्टन अमरेंद्र सिंह द्वारा मोदी सरकार के इस फैसले का समर्थन किए जाने से साफ हो गया है कि वह पहले भी मोदी के इशारों पर नाचते थे और आज भी मोदी के साथ खड़े हैं।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Subhash Kapoor

Recommended News

static