कोरोना संकट में अगले कुछ दिनों तक मुख्यमंत्री ने ये सावधानियां बरतने की दी सलाह

5/22/2020 12:15:20 PM

जालंधर (धवन): कोरोना वायरस के खिलाफ चल रही जंग में पंजाब को अब अच्छे नतीजे मिलने शुरू हो गए हैं और पंजाब में इस समय कोरोना वायरस के एक्टिव मामलों की संख्या सिर्फ़ 211 रह गई है। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने ट्वीट करते हुए कहा कि पंजाब में कोरोना वायरस को ले कर रिकवरी रेट 59 प्रतिशत पर आ गई है जो एक बड़ी प्राप्ति है। इसलिए कोरोना वायरस को ले कर सरकार की तरफ से कर्फ़्यू को ख़त्म करने और लॉकडाउन में दी गई राहत दौरान लोगों को अब ओर भी सक्रियता बरतनी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि देश में कोरोना को ले कर डबलिंग रेट 14 दिनों का है और दूसरे तरफ़ पंजाब में इन मामलों के डबलिंग रेट में भारी सुधार देखा गया है और यह 100 दिनों पर आ गया है। 

इन बचाव कार्यों को पालन करने को कहा 
मुख्यमंत्री ने इस बारे में भारत और पंजाब के डबलिंग रेट का तुलनात्मिक अध्ययन करते हुए आंकड़ों से को भी जारी किया है, जिसमें ग्राफ को देखने से पता लगता है कि पंजाब ने कोरोना को ले कर रोगी की दशा में भारी सुधार देखने को मिल रहा है और उन को लगातार अस्पताल से छुट्टी दी जा रही है। कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने एक बार फिर घरों से बाहर निकलते समय मास्क का प्रयोग करने, सामाजिक दूरी बना कर रखने और सैनेटाईज़र की समय -समय पर प्रयोग करने की सलाह दी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि अगर हम कोविड-19 को ले कर सरकार की तरफ से जारी प्रोटोकॉल की पालना करते हैं तो फिर हमारी मेहनत के अच्छे नतीजे सामने आऐंगे और इस के साथ जनता को भी लाभ मिलेगा।

कोरोना केस के विस्तार का लिया जा रहा जायजा 
मुख्यमंत्री ने कहा लोगों कि हैल्थ विभाग की तरफ से जारी प्रोटोकॉल का उल्लंघन बिल्कुल भी नहीं करना है नहीं तो सख़्त मेहनत का कोई नतीजा नहीं मिलेगा  । दूसरे तरफ़ सरकारी आंकड़ों से पता लगा है कि सरकार की तरफ से 18 मई से कर्फ़्यू ख़त्म करने के बाद अगर कोरोना के मामलों में ज़्यादा विस्तार नहीं हुआ परन्तु फिर भी सरकार देख रही है कि 28 -29 मई तक कितने केस सामने आते हैं। 18 मई को सरकार ने कर्फ़्यू ख़त्म किया था और शहरों के खुलने के बाद अगर कोरोना का प्रसार होता भी है तो उस के नतीजों का पता 28 -29 मई तक ही लगेगा। 


Edited By

Tania pathak

Related News