102 किलो हेरोइन मामले में कस्टम विभाग के हाथ खाली, मास्टरमाइंड अभी भी शिकंजे से बाहर

punjabkesari.in Saturday, May 21, 2022 - 11:14 AM (IST)

अमृतसर (नीरज): आई.सी.पी. अटारी बार्डर पर अफगानिस्तान से आई मुलट्ठी में 102 किलो हेरोइन पकड़े जाने के मामले में कस्टम विभाग के हाथ अभी भी खाली है और हेरोइन तस्करी करने वाला मास्टरमाइंड अभी भी विभाग के शिकंजे से बाहर चल रहा है।

जानकारी के अनुसार कस्टम विभाग ने 23 अप्रैल के दिन अफगानिस्तान से आए ट्रकों में मुलट्ठी से हेरोइन पकड़ी थी तस्करों ने बड़े ही शातिराना अंदाज में लकड़ी के छोटे टुकड़ों को मुलट्ठी का आकार देकर उसमें हेरोइन भरी हुई थी और लगभग 542 के करीब लकड़ी के टुकड़े थे जिसमें हेरोइन को भरा हुआ था। इस मामले की जांच करते हुए विभाग ने मुलट्ठी का आयात करने वाले दिल्ली के व्यापारी विपन मेहता व उसके एक अन्य करिंदे को जरूर गिरफ्तार कर लिया, लेकिन माना जा रहा है कि असली आरोपी कोई और ही है। विभाग की टीम इस मामले की जांच करते हुए उत्तर प्रदेश भी जा चुकी है, लेकिन अभी तक कोई बड़ी सफलता हाथ नहीं लग सकी है।

बता दें कि अफगानिस्तान से आने वाली वस्तुओं में हेरोइन भेजने का प्रयास विफल होने के बाद पाकिस्तानी तस्करों की तरफ से सीमावर्ती इलाकों में ड्रोन की मूवमेंट लगातार जारी है। एस.टी.एफ. की तरफ से शुक्रवार के दिन यह खुलासा भी कर दिया गया है कि जिस आई.ई.डी. का प्रयोग लुधियाना बम बलास्ट में किया गया था, उसको भी ड्रोन के जरिए ही अमृतसर-तरनतारन के एक सीमावर्ती इलाके में पहुंचाया गया था।

जेलों से चल रहे नेटवर्क
केंद्रीय व राज्य सरकार की सुरक्षा एजेंसियों की तरफ से कई बड़े मामलों में खुलासा किया जा चुका है कि नामी तस्कर जो जेलों में बंद हैं वह मोबाइल फोन के जरिए जेलों के अन्दर से ही अपना नेटवर्क चला रहे हैं। आए दिन जेलों के अंदर से मोबाइल फोन पकड़े जा रहे हैं लेकिन फिर भी जेलों में जैमर नहीं लगाए जा रहे हैं। 

एक लाख का ईनाम भी नाकाफी
हेरोइन तस्करों को पकड़ने के लिए बी.एस.एफ. की तरफ से हाल ही में ड्रोन के जरिए हेरोइन मंगवाने वाले तस्करों की सूचना देने वालों को एक लाख का इनाम देने की घोषणा की गई थी, लेकिन यह इनाम भी नाकाफी नजर आ रहा है और ड्रोन की मूवमेंट पिछले वर्ष से कई गुना ज्यादा बढ़ गई है।

बड़े खिलाड़ियों तक नहीं पहुंच पाती एजेंसियां
हेरोइन तस्करी के बड़े मामलों में भी छोटे खिलाड़ियों तक ही जांच सीमित रह जाती है और बड़े खिलाड़ियों तक जांच एजेंसियां पहुंच नहीं कर पाती है। चाहे आई.सी.पी. पर पकड़ी गई 532 किलो हेरोइन का मामला हो या फिर मुलट्ठी से पकड़ी गई 102 किलो हेरोइन का मामला अभी तक किसी भी बड़े खिलाड़ी को पकड़ा नहीं जा सका है।

अपने शहर की खबरें Whatsapp पर पढ़ने के लिए Click Here

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

Kalash

Related News

Recommended News