किसान बिलों पर झूठ की राजनीति कर रहे नवजोत सिद्धू : भाजपा

punjabkesari.in Thursday, Sep 16, 2021 - 10:03 PM (IST)

चंडीगढ़ (शर्मा): भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश महामंत्री डा. सुभाष शर्मा ने नवजोत सिंह सिद्धू पर निशाना साधते हुए कहा कि कांट्रैक्ट फार्मर्स एक्ट 2013 जब पास हुआ तो उनकी पत्नी सरकार का हिस्सा थी और वह स्वयं भी सांसद थे। उन्होंने विरोध क्यों नहीं किया नवजोत सिद्धू को 8 साल क्यों लग गए, यह समझने में कि यह कानून किसानों के हित में नहीं है। उन्होंने सिद्धू पर सवाल उठाते हुए कहा कि पिछले साढ़े 4 साल से आपकी सरकार पंजाब में है, आपने इस कानून को रद्द क्यों नहीं किया।

शर्मा ने बताया कि मोदी सरकार द्वारा जो कृषि सुधार किए गए हैं उनकी शुरूआत डा. मनमोहन सिंह ने की थी। राहुल गांधी ने 2013 में प्रैस वार्ता कर कांग्रेस शासित सभी राज्यों को ए.पी.एम.सी. एक्ट में सुधार करने का निर्देश दिया था। उन्होंने कहा कि स्वयं अमरेंद्र सिंह सरकार ने 2017 में ए.पी.एम.सी. एक्ट को संशोधित कर प्राइवेट मंडी, प्राइवेट यार्ड तथा किसान से सीधी खरीद जैसे प्रावधान किए थे। नवजोत सिद्धू को कटघरे में खड़ा करते हुए शर्मा ने कहा कि जब यह कानून पास हो रहा था तो सिद्धू ने कैबिनेट मीटिंग तथा विधानसभा में इसका विरोध क्यों नहीं किया। क्या पंजाब सरकार के इस नए कानून में प्रावधान था कि प्राइवेट मंडी में कोई व्यापारी एम.एस.पी. से कम नहीं खरीदेगा। उन्होंने कहा कि नवजोत सिद्धू को अपनी सरकार द्वारा बनाए इस नए कानून को विधानसभा का विशेष सैशन बुलाकर तुरंत रद्द करना चाहिए।

डा. शर्मा ने नवजोत सिद्धू को चुनौती देते हुए कहा कि वह बताएं इस कानून के किस प्रावधान में यह लिखा है कि उद्योगपति किसान की जमीन पर कब्जा कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि सिद्धू व अन्य कांग्रेस नेता झूठ फैलाने के लिए पंजाब के किसानों से माफी मांगे। इस अवसर पर कर्नल जयबंस सिंह गिल, प्रवक्ता एस.एस. चन्नी, डा. स्वर्ण सिंह, तथा प्रदेश मीडिया सह संयोजक ध्रुव वधवा उपस्थित थे।

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Subhash Kapoor

Related News

Recommended News