गुरदासपुर गोलीकांड में हुआ नया खुलासा, 14 के खिलाफ दर्ज हुई FIR

punjabkesari.in Tuesday, Apr 05, 2022 - 05:55 PM (IST)

गुरदासपुर : जिला गुरदासपुर में भैनी मियां खान पुलिस स्टेशन अधीन गांव फुल्लड़ा में जमीनी विवाद को लेकर गोलियां चली जिसमें गोलियों सरपंच के पति सहित 3 की मौत व 2 घायल हुए। इस गोलीकांड मामले में पुलिस ने सरपंच लवली देवी के बयानों पर माणा के सरपंच सहित 14 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। सरपंच लवली देवी के बयानों पर पुलिस ने एफ.आई.आर. दर्ज कर ली है।

जांच में यह भी पता चला है कि आरोपियों ने सरपंच के पति सुखराज को मारने के लिए 50 से अधिक राउंड फायर किए जिनमें से 23 गोलियां उसके शरीर में लगी। आरोपियों की पहचान निर्मल सिंह निवासी खेहराबाद दसूहा, झिरमल सिंह, उमिंदर सिंह, अर्शदीप सिंह, मनप्रीत सिंह, हिम्मत सिंह, गगनदीप सिंह व माणा के सरपंच, रविंदर सिंह निवासी टेरकियाणा और उसका छोटा भाई, नंबरदार रमेश सिंह निवासी वधाइयां दसूहा, परमजीत सिंह निवासी लाडियां हरदोथले अजयपाल सिंह निवासी मांगट दसूहा और नोनी लहोरिया निवासी कोठा मोहल्ला के रूप में हुई है। पुलिस ने इन सबके खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। 

लवली देवी ने भी अपने बयानों में जमीन विवाद का जिक्र किया है। किसी भी आरोपी की गिरफ्तारी नहीं की गई है। पुलिस का कहना है कि वह आरोपियों को गिरफ्तार करने के लिए छापेमारी कर रहे हैं। पोस्टमार्ट में यह खुलासा हुआ है मृतक सुखराज के शरीर पर आरोपियों ने 23 गोलियां मारी थी। 3 गोलियां सिर में लगी जिनमें से एक माथे के बिल्कुल बीच, 1 कमर के बाईं तरफ, 7 छाती के बाईं तरफ व 2 बाईं तरफ, 2 पेट के सेंटर में,  1-1 पेट के बाईं व दाईं तरफ, 4 बाईं बाजू पर, 2 बाएं जांघ पर, 1 दाएं जांघ पर और 2 दाएं जांघ के अंदर की तरफ गोलियों के निशान हैं। वहीं जैमल सिंह को भी 6 गोलियां लगी और निशान सिंह की छाती के बाईं तरफ गोली लगी हैं।

बता दें दसूहा निवासी गार्ड निर्मल सिंह आज गांव फुल्लड़ा में एक जमीन पर कब्जा करने के लिए बड़ी संख्या में अपने साथियों के साथ पहुंचा था। इस दौरान जब गांव के सरपंच सुखराज सिंह उर्फ सुखा पुत्र चरन सिंह आदि ने इन लोगों का विरोध किया तो कब्जा करने आए लोगों ने गोलियां चला दी। इस दौरान सुखराज सिंह सहित निशान सिंह पुत्र हंसा सिंह और जैमल सिंह पुत्र तेजा सिंह की गोली लगने से मौत हो गई थी। गोलियां लगने के कारण घायल हुए व्यक्तियों को हरचोवाल के अस्पताल लाया गया लेकिन डाक्टरों ने सभी को मृत घोषित कर दिया था। मृतकों में एक मजदूर था, जो सुखराज सिंह के खेतों में दिहाड़ी लगाने के लिए गया था।

अपने शहर की खबरें Whatsapp पर पढ़ने के लिए Click Here

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

Kamini

Related News

Recommended News