नाबालिग लड़की से हुई छेड़छाड़, डी.जी.पी. दिनकर गुप्ता समेत कई बड़े अफसरों के खिलाफ याचिका दायर

9/17/2020 1:12:51 PM

चंडीगढ़: नाबालिग बेटी से कुछ युवकों द्वारा छेड़छाड़ के मामले में एक पिता ने चंडीगढ़ लॉन टेनिस एसोसिएशन (सी.एल.टी.ए.) के पदाधिकारियों के खिलाफ चंडीगढ़ जिला अदालत में याचिका दायर की है। सी.एल.टी.ए. के इन पदाधिकारियों में पंजाब के मौजूदा एडिशनल चीफ सेक्रेटरी विश्वजीत खन्ना व डी.जी.पी. दिनकर गुप्ता समेत कई बड़े अफसरों के नाम शामिल हैं। उन्होंने कहा कि शिकायत के बाद भी अफसर आरोपियों को बचाते रहे। इसलिए इन सभी पर भी पॉक्सो एक्ट की धारा 17, 18, 19 व 21 के तहत केस दर्ज होना चाहिए।

जानकारी के अनुसार एक पिता ने शिकायत दर्ज करवाई कि उसकी नाबालिग बेटी सी.एल.टी.ए. में ट्रेनिंग ले रही थी। उसके साथ 2 और लड़कियां भी प्रैक्टिस करती थीं। सी.एल.टी.ए. में ही प्रैक्टिस करने वाले कुछ लड़के उन्हें लगातार परेशान करते थे। वे उसकी बेटी के साथ छेड़छाड़ करने लगे और उसे देखकर गलत कमेंट भी करते थे। इस बात की शिकायत भी लड़की ने सी.एल.टी.ए. के पदाधिकारियों को दी लेकिन किसी ने कोई कार्रवाई नहीं की। इसके बाद फिर उसने परिवार को इस बारे में बताया।

बच्ची के पिता ने कहा कि उन्हें लगा कि एसोसिएशन में उचित कार्रवाई होगी लेकिन उन्होंने आरोपियों को बचाना शुरू कर दिया। इसके बाद पिता ने 5 लड़कों के अलावा सी.एल.टी.ए. के मेघराज, रोमन सिंह और पूर्व प्रेसिडेंट जय सिंह गिल (पूर्व चीफ सेक्रेटरी पंजाब) के खिलाफ शिकायत दी थी, फिर भी कुछ कार्रवाई नहीं हुई। पुलिस ने 17 अगस्त 2019 को केवल लड़कों के खिलाफ केस दर्ज किया, लेकिन बाकी अफसरों को छोड़ दिया। इसके बाद सी.एल.टी.ए. के अफसरों के दबाव में पुलिस ने किसी भी आरोपी को गिरफ्तार नहीं किया। पांचों लड़कों को जुवेनाइल कोर्ट से जमानत मिल गई। पिता ने इन सभी आरोपियों की जमानत रद‌्द किए जाने के लिए जुवेनाइल कोर्ट में याचिका दायर की है। उनका आरोप है कि ये आरोपी जुवेनाइल नहीं हैं और इनके सर्टिफिकेट भी नकली हैं।

बच्ची के पिता ने सी.एल.टी.ए. के चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर मेघराज, चीफ कोच रोमन सिंह, सेक्टर-3 थाने के पूर्व एसएचओ नीरज सरना, चंडीगढ़ अकेडमी ऑफ रूरल टेनिस के चेयरमैन राजन कश्यप, सीएलटीए के पूर्व प्रेसिडेंट जय सिंह गिल, पूर्व सेक्रेटरी डॉ. जसजीत सिंह, पूर्व ट्रेजरर व डीजीपी पंजाब दिनकर गुप्ता, सीएलटीए की जांच अफसर डॉ. निरुपा मरवाहा, हॉस्टल वार्डन अंजू सिंह, ऑल इंडिया टेनिस एसोसिएशन की प्रेसिडेंट प्रवीण महाजन, सेक्रेटरी हिरॉनमॉय चैटर्जी, सीएलटीए के मौजूदा प्रेसिडेंट व पंजाब के एडिशनल चीफ सेक्रेटरी विश्वजीत खन्ना, सेक्रेटरी व हरियाणा के एडिशनल चीफ सेक्रेटरी सुधीर राजपाल व ट्रेजरर गुरकिरत किरपाल सिंह के खिलाफ याचिका में एफ.आई.आर. दर्ज करने की मांग की है।

पिता का कहना है कि इन पदाधिकारियों की वजह से बेटी का करियर बर्बाद हो गया। उनकी बेटी ऑल इंडिया रैंकिंग ट्राइसिटी में सबसे बेहतर थी, लेकिन अब उसने खेलना ही छोड़ दिया है। वहीं, दूसरी ओर छेड़छाड़ करने वाले लड़के मार्च तक तो प्रैक्टिस भी कर रहे थे और कई टूर्नामेंट भी खेल रहे थे। 


Sunita sarangal

Related News