Punjab Wrap Up: NIA ने अमृतसर से दबोचा Most Wanted ड्रग्स तस्कर तो वहीं CBI ने पंजाब पुलिस को सौंपी बेअदबी मामले की फाइलें, पढ़ें दिन भर की बड़ी खबरें

punjabkesari.in Thursday, Feb 04, 2021 - 09:28 PM (IST)

जालंधरः अमृतसर में NIA ने आज बड़ी कारवाई करते हुए पंजाब में आतंकियों के लिए फंड मुहैया करवाने वाले व्यक्ति को गिरफ्तार किया है। तो वहीं अमृतसर में सुबह-सुबह एनआईए की तरफ से रेड की गई है। इसके अलावा आज बेअदबी के मामले को लेकर सी.बी.आई. ने आखिरकार इसकी फाइलें पंजाब पुलिस के हवाले कर दी हैं। इसकी जानकारी पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने फेसबुक के जरिए दी। इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने अकालियों को आड़े हाथों लिया। हम आपके लिए लाए हैं ऐसी खबरें जो आप अपने व्यस्त शेड्यूल के चलते मिस कर जाते हैं। इस न्यूज बुलेटिन में हम आपको पंजाब से जुड़ी बड़ी खबरें बताने जा रहे हैं।

NIA ने अमृतसर से दबोचा Most Wanted ड्रग्स तस्कर, हिजबुल सहित कई आतंकी संगठनों को पहुंचाता था मदद
nia caught youth working for terrorist organizations from punjab
उक्त व्यक्ति से गोली सिक्का तथा कैश बरामद हुआ है। सुबह 7 बजे से NIA टीम अमृतसर के रंजीत विहार इलाके में रेड कर रही थी। जानकारी के अऩुसार रंजीत विहार के मकान नंबर 15 से मनप्रीत सिंह मनु नामक युवक पकड़ा गया है है जो यहां पर किराएदार के तौर पर रहा था। जानकारी के अनुसार उक्त युवक हिजबुल मुजाहिदीन के कमांडर रहे नायकू के करीबी हिलाल अहमद के साथ काम कर रहा था। गौरतलब है कि नायकू को हाल ही में श्रीनगर में एनकाऊंटर में मार गिराया गया था।

निकाय चुनाव: 14 फरवरी को मतदाताओं के लिए अवकाश की घोषणा
पंजाब सरकार ने 14 फरवरी को उन जिलों के मतदाताओं के लिए छुट्टी की घोषणा की है जिनमें नगर निगमों, नगर कौंसिलों, नगर पंचायतों के चुनाव और नगर निगम / नगर कौंसिल / नगर पंचायतों के कुछ वार्ड में उपचुनाव होने हैं। सरकारी प्रवक्ता ने आज यहां बताया कि सरकार की तरफ से दुकानों, व्यापारिक संस्थानों और फैक्टरियों में काम करने वाले कर्मचारियों के लिए वेतन सहित छुट्टी का ऐलान किया गया है जहाँ (रविवार) को नगर निगम, नगर कौंसिल, नगर पंचायत और उपचुनाव होने हैं।

CBI ने पंजाब पुलिस को सौंपी बेअदबी मामले की फाइलें, कैप्टन ने अकालियों को लिया आड़े हाथों
cbi hands over coarseness case files to punjab police
कैप्टन ने कहा कि केंद्र से अकाली दल के अलग होने के सिर्फ कुछ महीनों के बाद ही इस मामले के कागज हमें सौंपना यह साबित करता है कि हरसिमरत कौर बादल ने जांच में रुकावट डाली हुई थी। हमारी पुलिस इस घटना के दोषियों का पता लगाएगी और दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा। इसके अलावा मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार आने से पहले कोटकपूरा में बेअदबी कांड हुआ था। उन्होंने कहा कि जब हमारी सरकार आई तो उस वक्त 6 जून 2018 में रणजीत सिंह कमिश्न बिठाया गया था और कमिश्न ने हमें अपनी रिपोर्ट सौंपी, जिसमें काफी कुछ स्पष्ट हो गया था। उसके बाद पंजाब विधानसभा में रेजुलेशन किया गया कि यह कागज वापिस किए जाएं लेकिन बार-बार केंद्र सरकार टालती रही। कैप्टन ने कहा कि उस समय केंद्र में बैठी हरसिमरत बादल भी चाहती थी कि यह कागज वापिस ना किए जाएं। उन्होंने कहा कि जिन्होंने भी यह बेअदबी कांड किया है, उनको कभी भी बख्शा नहीं जाएगा।

बड़ी खबर: अमृतसर के इस इलाके में NIA की रेड, विदेशी फंडिंग से जुड़े है तार
पंजाब के अमृतसर में सुबह-सुबह एनआईए की तरफ से रेड की गई है। मिली जानकारी अनुसार आज सुबह अमृतसर के लोहारका रोड पर एनआईए ने एक घर में छापेमारी की है। सूत्रों की माने तो आज एनआईए ने किसान आंदोलन में विदेशी फंडिंग को लेकर अमरजीत की तलाश में उसके घर में दबिश दी।। मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो ये छापेमारी सुबह 7 बजे से चल रही है। हालांकि इस बारे में अभी और जानकारी नहीं है लेकिन एनआईए की तरफ से छापेमारी होने पर आसपास के इलाके में दहशत का माहौल बना हुआ है।

ऑफलाइन परीक्षा का विरोध कर रहे GNDU स्टूडेंट्स और पुलिस में झड़प
gndu students and police clash against offline examination
गुरुवार को गुरु नानक देव यूनिवर्सिटी (जी.एन.डी.यू.) के बाहर उस वक्त माहौल तनावपूर्ण हो गया जब स्टूडेंट्स ने यूनिवर्सिटी द्वारा ऑफलाइन परीक्षाएं लेने के फैसले का जमकर विरोध किया। इस दौरान GNDU के मुख्य गेट पर विद्यार्थियों और सुरक्षाकर्मियों में धक्का-मुक्की भी हुई। हालांकि देर शाम पुलिस ने विद्यार्थियों की GNDU के अधिकारियों के साथ बैठक करवा दी।

नगर पंचायत अजनाला में भाजपा के 13 वार्डों के उम्मीदवारों के नामांकन पत्र रद्द
नगर पंचायत अजनाला के चुनावों के संबंध में नामांकन पत्रों की जांच दौरान भाजपा के 15 वार्डों में 13 उम्मीदवारों के नामांकन पत्र रद्द हो गए। उधर भाजपा के मंडल प्रधान अशोक कुकरेजा और अन्य नेताओं द्वारा सत्ताधारी पक्ष पर धक्केशाही करने के आरोप लगाए गए।

वैक्सीन लगवाने के बावजूद जालंधर के डॉक्टर आए कोरोना पॉजिटिव
despite getting vaccinated jalandhar doctors came to corona positive
जालंधर जिले में डॉक्टर पी.एस. बख्शी ने कोरोना वैक्सीन लगवाई, बावजूद इसके उनकी रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव पाई गई है। जानकारी अनुसार 60 वर्षीय डॉ. बख्शी ने 16 जनवरी को कोरोना वैक्सीन लगवाई थी और अब उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई है। आगे बताते चलें कि उनकी पत्नी भी कोरोना पॉजिटिव हैं लेकिन उन्होंने अभी टीका नहीं लगवाया। इस संबंध में डॉ. बख्शी का कहना है कि वह किसी काम से महाराष्ट्र में गए थे, जहां से उन्हें कोरोना की चपेट में आने की संभावना है।

पंजाब में पिछले साल के मुकाबले 44.5 फीसदी बढ़ी पराली जलाने की घटनाएं- केंद्र
पंजाब में पराली की समस्या कोई आज की नहीं है। आए दिन पंजाब में पराली जलाने के मामले सुर्खियां बने रहते है। पिछले कई सालों से सरकार की तरफ से ये दावे किए जा रहे है कि अब इस समस्या का हल निकल चुका है लेकिन हाल ही में केंद्र सरकार द्वारा जारी एक रिपोर्ट इन दावों को खोखला दिखा रही है। मिली जानकारी अनुसार केंद्र ने उच्चतम न्यायालय को बताया कि पराली जलाने से रोकने के लिए सरकार से कुल कोष का 46 प्रतिशत हिस्सा मिलने के बावजूद पंजाब में 2020 में पराली जलाने की घटनाओं में 44.5 प्रतिशत की वृद्धि हुई। पर्यावरण और वन मंत्रालय ने रिपोर्ट में बताया कि पंजाब में 2020 में पराली जलाने की 76,590 घटनाएं हुई जबकि 2019 में इस तरह के 52,991 मामले आए थे। इससे पता चलता है कि पराली जलाने की घटनाओं में 44.5 प्रतिशत की वृद्धि हुई। 

टिकरी बार्डर पर 'उगराहां' का बड़ा ऐलान, सरकार से बातचीत के लिए सामने रखी ये मांगे
big announcement from kisan morcha at ticker border
भारतीय किसान यूनियन एकता (उगराहां) के प्रदेश प्रधान जोगिंदर सिंह उगराहां ने ऐलान किया है कि जितनी देर सरकार झूठे मामलों के बहाने गिरफ्तार किए किसानों को बिना शर्त रिहा नहीं करती और माहौल को शांत नहीं बनाती, तब तक सरकार के साथ बातचीत नहीं की जाएगी। यह ऐलान उगराहां ने टिकरी बार्डर स्थित पकौड़ा चौंक में किसान संघर्ष में शामिल किसानों को संबोधन करते हुए किया।

आंदोलन में जान गंवाने वाले किसानों के परिवारों के लिए प्रवासी भारतीयों का विशेष प्रयास
कृषि कानूनों को लेकर चल रहे किसानी आंदोलन में अपनी जान गंवाने वाले किसानों के परिवारों की मदद के लिए प्रवासी भारतीयों ने एक विशेष प्रयास करते हुए संबंधित परिवारों की वित्तीय सहायता की है। वाइट हाउस पैलेस टांडा में एन.आर.आई यू.एस.ए. इंडियन संस्था द्वारा किसान आंदोलन में जान गंवाने वाले किसानों के परिवारों को एक-एक लाख रुपए की वित्तिय सहायता भेट की गई।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Mohit

Related News

Recommended News