अब पंजाब में जहरीली शराब से अनाथ हुए बच्चों के लिए फरिश्ता बने सोनू सूद, किया बड़ा ऐलान

8/7/2020 6:20:01 PM

पंजाब: कुछ दिन पहले पंजाब में ज़हरीली शराब पीने से अमृतसर, तरनतारन और बटाला में हुई मौतों पर घमासान सियासत जारी है। आज भी मुख्यमंत्री सभी पीड़ित परिवारों से मिलने आये थे। इस हादसो में कई परिवारों के मैंबर ज़हरीली शराब की भेंट चढ़ गए। कई महिलाए विधवा हो गई हैं जबकि कई बच्चे अनाथ हो गए हैं। कई दिन बीत जाने के बाद सरकार ने मुआवजे का ऐलान किया है परन्तु इस हादसे से उनका भविष्य खतरे में है।  

इस हादसे के शिकार लोगों में से एक आटो चालक सुखदेव भी था। पति की मौत का दर्द न सहन करके सुखदेव की पत्नी की भी मौत हो गई, जिस के बाद चार बच्चे कर्णवीर, गुरप्रीत, अरशप्रीत और सन्दीप अनाथ हो गए। यह बच्चे फ़िलहाल अपने चाचा स्वर्न सिंह के पास रहते हैं।

PunjabKesari

एक वीडियो में स्वर्ण कह रहा है कि उसके ख़ुद के चार बच्चे हैं, वह इन बच्चों पालन पोषण कैसे करेगा? इस वीडियो को देखने के बाद सोनू सूद ने इन बच्चों की पूरी ज़िम्मेदारी लेने का कहा है। सोनू को इन बच्चों की जानकारी उनके दोस्त ने दी थी। सोनू सूद ने टवीट करते हुए कहा 'मैं विश्वास दिलाता हूं कि पंजाब के इन छोटे बच्चों के पास एक बढ़िया घर, अच्छा स्कूल और सुनहरी भविष्य होगा।'

उल्लेखनीय है कि सोनू सूद कोरोना संकट दौरान प्रवासी मज़दूरों के लिए मसीहा बने है। उन्होंने प्रवासी मज़दूरों के लिए हर संभव मदद की। सोनू सूद असली हीरो साबित हुए हैं। कई प्रवासी मजदूरों को उनके घर पहुंचाने में सोनू ने बहुत बड़ी भूमिका निभाई थी। जल्द ही वे प्रवासी भाई-बंधुओं के लिए नौकरी का अवसर भी लेकर आ रहे हैं। इसी तरह उन्होंने खेत में काम करने वाली लड़कियों की भी मदद करते हुए उन्हें ट्रैक्टर भेंट किया था। 


Edited By

Tania pathak

Related News