राज्य सभा के लिए चुने गए उम्मीदवारों को लेकर बोले प्रो. चंदूमाजरा

punjabkesari.in Tuesday, Mar 22, 2022 - 03:16 PM (IST)

अमृतसर (गुरिन्दर सागर): विधान सभा मतदान में शिरोमणि अकाली दल की हार के बाद समीक्षा कमेटी पंजाब भर में जाकर हुई कमजोरियों को ढूंढेगी और हुई गलतियों का सुधार करने के लिए तत्पर होंगे। सचखंड श्री दरबार साहिब में दर्शन करते समय सीनियर अकाली नेता प्रो. प्रेम सिंह चन्दूमाजरा ने उपरोक्त विचार प्रकट करते कहा कि पंजाब के लोगों ने आम आदमी पार्टी को पंजाब के हकों की चौकीदारी के लिए सत्ता दी थी परंतु केजरीवाल के राज्य सभा सदस्यों बारे फैसले ने साबित कर दिया है कि पंजाब के हकों पर छूरा घोंपा है। 

यह भी पढ़ेंः 'केसरी रंग' ने बदली पंजाब में आम आदमी पार्टी की पहचान

प्रो. चन्दूमाजरा ने कहा कि राज्य सभा अंदर आबादी के हिसाब के साथ नुमाइंदगी मिलने करके पंजाब को पहले ही बड़ा नुकसान हो रहा है। बाकी राज्यों में 2-2 वर्षों के फर्क से राज्य सभा सदस्यों की चयन होती है परंतु पंजाब में लम्बा समय गवर्नरी राज रहने करके यहां से सभी मैंबर एक ही बार भेजने करके भी पंजाब को नुकसान होता है। उन्होंने कहा कि पंजाब से बाहर के लोगों को नुमाइंदगी देने की नई प्रथा चलाकर केजरीवाल ने यह बात सत्य कर दी है कि पंजाब की सरकार का रिमोट अब दिल्ली के हाथ होगा। उन कहा कि मुख्यमंत्री दफ्तर में से महाराजा रणजीत सिंह की तस्वीर हटाने साथ भी पंजाबियों के मन को गहरी चोट लगी। 

यह भी पढ़ेंः बड़ा फैसलाः भगत सिंह के शहीदी दिवस पर भगवंत मान ने पंजाब में किया छुट्टी का ऐलान

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री को यह समझना चाहिए कि महाराजा रणजीत सिंह के समय पंजाब अंग्रेजों का गुलाम नहीं था हुआ बल्कि महाराजा रणजीत सिंह के प्रस्थान के बाद कुछ लोगों की गद्दारियों करके पंजाब गुलाम हुआ था। उन्होंने कहा कि महाराजा रणजीत सिंह को अच्छे शासक के तौर पर देखा जाता है। उनकी तस्वीर उतारनी गलत है। उन्होंने कहा कि सभी शहीदों का सम्मान होना चाहिए परन्तु शहीदों में बंटवारा डाल कर राजनीति करना राज्यों के हित में नहीं। प्रो. चन्दूमाजरा ने कहा कि पंजाब के विधायकों ने चाहे पार्टी के बोले अनुसार राज्य सभा सदस्यों की सिफारिश पर दस्तखत कर दिए हैं परन्तु वह अपील करते हैं कि वह पंजाबी होने के नाते अपनी जिम्मेदारी को समझें और पंजाब के हितों के लिए पंजाबी होने का सबूत दें।

अपने शहर की खबरें Whatsapp पर पढ़ने के लिए Click Here

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

Urmila

Related News

Recommended News