मामला चीनी मिल की तरफ से बकाए का, किसान जत्थेबंदियों ने लिया यह फैसला

punjabkesari.in Monday, Mar 21, 2022 - 04:34 PM (IST)

मुकेरियां: पगड़ी संभाल जट्टां लहर के नेता गन्ना उत्पादक और अन्य किसान जत्थेबंदियां लगभग 160 करोड़ रुपए के बकाए को लेकर 22 मार्च से अनिश्चित समय का धरना देंगी और चक्का जाम करेंगी। इस सम्बन्धित हुई मीटिंग में किसान नेताओं ने कहा कि चीनी मिल की प्रशासनिक कमेटी और स्थानीय प्रशासनिक अधिकारी अड़ियल रवैया अपनाए बैठे हैं। किसान जत्थेबंदियों की तरफ से अर्थी फूंक प्रदर्शन के ऐलान के बाद भी दुख वाली बात है कि गन्ना उत्पादकों का बकाया अदा करने के लिए कोई ठोस कदम नहीं उठाए गए। मीटिंग दौरान रोष प्रदर्शन करने की जुगलबंदी की गई और अलग-अलग नेताओं की जिम्मेदारियां तय की गई। 

यह भी पढ़ेंः राज्यसभा चुनाव के लिए उम्मीदवारों द्वारा नामांकन दाखिल

मीटिंग उपरांत किसान नेता विजय कुमार गुलेरिया, सौरव मिन्हास, बिल्ला सरपंच, आसा सिंह भंगाला, बलदेव सिंह सेखवां, अर्जन सिंह काजल, सुरजीत सिंह बिल्ला, जगजीत सिंह भैनी पसवाल, चीमा पुराना शाला, दलजीत सिंह मंजपुर, टीटा धनोआ, कुलदीप सिंह रंगा, मनप्रीत छन्नी नंद सिंह आदि ने कहा कि गन्ना उत्पादकों को 35 रुपए प्रति क्विंटल की अदायगी सरकार की तरफ से अभी तक नहीं की जा रही, जबकि गन्ने का सीजन खत्म होने वाला है जिस कारण किसानों में रोष की लहर है उन्होंने कहा कि बार-बार मीटिंगें और अपीलें करने और प्रशासनिक आधिकारियों को मांग-पत्र देने के बावजूद चीनी मिल मुकेरियां की तरफ से गन्ने की अदायगी नहीं की जा रही जिस कारण अदायगी में 35 से 40 दिनों की देरी हो रही है। दूसरी तरफ तकरीबन 160 करोड़ रुपए की राशि मिल की तरफ बकाया है। उन्होंने कहा कि अब गन्ना उपभोक्ताओं के खातों में गन्ने का बकाया जमा करवाने के लिए आर-पार का संघर्ष शुरु करा जाएगा। समूह किसान जत्थेबंदियां एकजुट होकर 22 मार्च से माता रानी चौक में अनिश्चित समय के लिए धरना देंगी और चक्का जाम करेंगी।

अपने शहर की खबरें Whatsapp पर पढ़ने के लिए Click Here

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

Urmila

Related News

Recommended News