बिजली मंत्री ने की किसान जत्थेबंदियों से मीटिंग और की यह अपील

punjabkesari.in Wednesday, May 11, 2022 - 10:07 AM (IST)

चंडीगढ़ (रमनजीत): धान के सीजन के मद्देनजर पंजाब के बिजली मंत्री हरभजन सिंह ई.टी.ओ. ने स्पष्ट किया कि चाहे देश बिजली की गंभीर किल्लत का सामना कर रहा है परन्तु पंजाब सरकार ने बिजली सप्लाई के पुख्ता प्रबंध किए हैं और हम धान की लगवाई के सीजन के लिए निर्विघ्न सप्लाई यकीनी बनाने के लिए पूरी कोशिश कर रहे हैं। किसान जत्थेबंदियों के साथ मीटिंग दौरान धान की योजनाबद्ध सम्बन्धित सुझाए गए फार्मूले को अपनाने की अपील करते कैबिनेट मंत्री ने कहा कि इस फार्मूले को अपनाने से बिजली की किल्लत के अलावा मजदूरों और खाद की कमी जैसे अन्य सभी मसले अपने-आप हल हो जाएंगे।

PunjabKesari

उन्होंने कहा कि यदि किसानों को इस सम्बन्धित कोई शिकायत है तो वह सुखदायक हल के लिए कमेटी बनाने के लिए तैयार हूं। उन किसानों को धान की लगवाई की रिवायती प्रणाली को छोड़ कर सीधी बिजवाई करने का सुझाव देते कहा कि यदि किसान खेती माहिरों के दिशा-निर्देशों की पालना करेंगे तो सीधी बिजवाई के साथ झाड़ पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा। उन्होंने आगे कहा कि मुख्यमंत्री भगवंत मान के नेतृत्व वाली राज्य सरकार ने पहले ही सभी खपतकारों को 300 यूनिट बिजली प्रति महीना मुफ्त देने का ऐलान किया है और यह सुविधा 1 जुलाई से मुहैया करवाई जाएगी।

मंत्री ने कहा कि अप्रैल 2022 के महीने दौरान, पी.एस.पी.सी.एल. ने 49,117 एल.यू. (औसत मांग 6822 मेगावाट) की सप्लाई की है, जो कि अप्रैल 2021 दौरान की गई 37,168 एल.यू. सप्लाई (औसत मांग 5162 मेगावाट) की अपेक्षा 32 फीसद अधिक है। इसी तरह मई 2021 दौरान की गई 1325 एल.यू. (औसत मांग 6467 मेगावाट) सप्लाई के मुकाबले 9 मई, 2022 तक 1802 एल.यू. (औसत मांग 8932 मेगावाट) की सप्लाई की गई है, जो पिछले वर्ष के मुकाबले 36 फीसदी अधिक हैं। पिछले वर्ष दर्ज की गई 6791 मेगावाट मांग के मुकाबले मई 2022 दौरान 9 मई, 2022 तक 9441 मेगावाट की पीक डिमांड दर्ज की गई है। इस मौके पी.एस.पी.सी.एल. के सी.एम.डी. बलदेव सिंह सरां और अन्य अधिकारी भी बैठक में मौजूद थे। 

अपने शहर की खबरें Whatsapp पर पढ़ने के लिए Click Here

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

Urmila

Related News

Recommended News