इंसानियत शर्मसार: अस्पताल के बंद गेट को फांदते समय महिला ने दिया 2 बच्चों को जन्म, 1 की मौत

5/12/2021 11:29:02 AM

रूपनगर (विजय): सरकारी वैटर्नरी अस्पताल का गेट बंद होने के कारण गरीब बस्ती में रह रही एक गर्भवती महिला का नवजन्मा बच्चा मौत के मुंह में चला गया जबकि दूसरा बच्चा बचा लिया गया। गौशाला मार्ग पर बने सरकारी वैटर्नरी अस्पताल में एक गरीब बस्ती को रास्ता जाता है जहां 25-30 परिवार रह रहे हैं।अस्पताल की एक महिला अधिकारी ने अस्पताल बंद होने पर मुख्य गेट को बंद रखने के निर्देश दे दिए जिस कारण इस गरीब बस्ती में रह रहे लोगों का आना-जाना बंद हो गया। 

वहीं बस्ती निवासियों का कहना है कि वह 40 साल से इसी रास्ते से अपनी बस्ती में आते-जाते हैं। बस्ती निवासी महिला लाडी ने बताया कि रविवार को उसकी गर्भवती बहू सुनीता पत्नी सुखदेव की सेहत बिगड़ गई और उसको अस्पताल ले जाने लगे तो वैटर्नरी अस्पताल का गेट बंद था। इसके चलते उन्होंने सुनीता को गेट के ऊपर से ही निकाल कर अस्पताल ले जाने का प्रयास किया तो मौके पर ही सुनीता की डिलीवरी हो गई।

इस दौरान सुनीता ने रास्ते में ही 2 लड़कों को जन्म दिया परंतु चिकित्सा सुविधा न मिलने के कारण एक नवजन्मे बच्चे की मौके पर ही मौत हो गई। बच्चे की मौत के बाद 2 दिन तक इस घटना बारे पता न लग सका जबकि आज पता लगने पर वार्ड की कौंसलर कुलविन्द्र कौर और अमरजीत सिंह जौली समेत अन्य लोग बस्ती में पहुंचे। कौंसलर ने कहा कि इस मामले में उच्च स्तरीय जांच होनी चाहिए। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vatika

Recommended News

static