ये अधिकारी/कर्मचारी फ्रंटलाइन वर्करों के तौर पर टीकाकरण अभियान में होंगे शामिल

punjabkesari.in Wednesday, Feb 10, 2021 - 04:02 PM (IST)

जालंधरः डिप्टी कमिश्नर घनश्याम थोरी ने बुधवार को कहा कि अलग-अलग विभागों के उन सभी अधिकारियों/कर्मचारियों, जिन्होनें सक्रियता के साथ कोरोना वायरस ड्यूटी निभाई है, को चल रहे टीकाकरण अभियान में फ्रंटलाइन वर्करों के तौर पर शामिल किया जाएगा। मुख्य सचिव विनी महाजन की अध्यक्षता में हुई एक वीडियो-कांफ्रेंस में भाग लेते हुए डिप्टी कमिश्नर घनश्याम थोरी ने कहा कि कई विभाग और उनके स्टाफ मैंबर, जो कोविड मैनेजमेंट टीम का हिस्सा थे, को फ्रंटलाइन वर्करों के तौर पर कोविड टीका लगाया जाएगा।

डिप्टी कमिश्नर ने बताया कि कई विभागों जैसे राजस्व, पंचायती राज, सैनीटेशन, खुराक और सिविल सप्लाइज, पावरकाम, शिक्षा विभाग के कर्मचारी कोविड संबंधी सम्बन्धित कामों में लगे हुए थे और शुरूआत से ही कोविड महामारी के प्रबंधन में सक्रियता के साथ भूमिका निभाई। उन्होंने कहा कि सभी विभागों की तरफ से सांझे तौर पर महामारी खिलाफ जंग लड़ी गई और वायरस को फैलने से रोकने के लिए दृढ़ यत्न किए गए।घनश्याम थोरी ने सभी विभागों के प्रभारियों को अपने स्टाफ सदस्यों के नामों की सूची भेजने के निर्देश दिए, जो कोविड टीका लगवाने के लिए तैयार हैं जिससे उनको कोविड पोर्टल पर रजिस्टर किया जा सके।

उन्होंने बताया कि अब तक जालंधर में 33,329 लाभपात्री पोर्टल पर रजिस्टर्ड किए जा चुके हैं, जिनमें 15497 स्वास्थ्य और 17832 फ्रंटलाइन वर्कर शामिल हैं। डिप्टी कमिश्नर ने बताया कि 6969 स्वास्थ्य और 3018 फ्रंटलाइन वर्करों सहित 9987 लाभपात्रियों का टीकाकरण किया गया है। उन्होंने सभी रजिस्टर्ड लाभपात्रियों को समय सारणी अनुसार टीका लगवाने के लिए कहा कि यह टीका पूरी तरह सुरक्षित और प्रभावशाली है। उन्होंने लोगों को किसी भी तरह की अफवाहों का शिकार न होने की अपील करते हुए कहा कि यह टीका महामारी के साथ लड़ने के लिए बहुत महत्वपूर्ण है और हमें सभी को वैक्सीनेशन के लिए आगे आना चाहिए।

डिप्टी कमिश्नर ने यह भी बताया कि आने वाले दिनों में सेवा केन्द्रों की तरफ से आयुष्मान -भारत स्वास्थ्य बीमा योजना के लिए योग्य व्यक्तियों की रजिस्ट्रेशन भी शुरू की जाएगी। उन्होनें स्वास्थ्य, खुराक, सिविल और सप्लाई, काम, जिला प्रोग्राम दफ्तर और अन्य को राज्य सरकार के इस महत्वपूर्ण स्वास्थ्य प्रोग्राम के बारे में अधिक से अधिक जागरूकता पैदा करने के निर्देश दिए, जिसके अंतर्गत 5 लाख रुपए का कैशलैस स्वास्थ्य बीमा कवर दिया जाता है। इस अवसर पर एस्टेट अधिकारी पुड्डा नवनीत कौर बल्ल, सिविल सर्जन डा. बलवंत सिंह, डिप्टी मैडीकल कमिश्नर डा. ज्योति, जिला टीकाकरण अधिकारी डा. राकेश कुमार चोपड़ा और अन्य मौजूद थे।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Mohit

Related News

Recommended News