मरे बच्चे को देखने आई बहू पर ससुरालियों ने ढाया कहर, मिन्नतें कर एक झलक पाने के लिए तरसी

punjabkesari.in Monday, Nov 28, 2022 - 02:53 PM (IST)

लुधियाना(तरुण): सिविल अस्पताल में उस समय हंगामा खड़ा हो गया जब 9 माह के बच्चे की मौत के बाद ससुराल पक्ष ने मां को चेहरा तक देखने नहीं दिया जबकि बच्चे की मां मिन्नते करती रही। बच्चे के पोस्टमार्टम के बाद शव पिता के हवाले कर दिया गया। मां ने शव को देखने के लिए अपनी ओर खींचा तो पिता ने शव को अपनी ओर खींच लिया। इसी खींचातनी में दोनों पक्ष आपस में भिड़ गए। हंगामा खड़ा होते देख चौकी सिविल व थाना डिवीजन नं. 2 की पुलिस मौके पर पहुंची।

मृत बच्चे की मां पूजा का आरोप है कि उसकी शादी हैबोवाल इलाके में हुई है। उसका पति के साथ विवाद चल रहा है। वुमन सैल में उसने पति व ससुराल पक्ष के खिलाफ शिकायत दी है। पूजा का आरोप है कि ससुराल पक्ष ने उसे घर से निकाल दिया ओर बच्चा भी रख लिया। शनिवार को उसे पता चला कि उसके 9 माह के बच्चे की मौत हो गई है। वह ससुराल में अपने बच्चे के ‘अंतिम दर्शन’ करने के लिए गई परंतु ससुराल पक्ष ने उसे मारपीट कर निकाल दिया। थाना थाना हैबोवाल प्रभारी सिमरनजीत कौर ने दोनों पक्षों को बुलाया जहां राजीनामा हुआ कि उसे बच्चे का अंतिम चेहरा देखने दिया जाएगा परंतु घर लौटने के बाद दोबारा ससुराल पक्ष के लोग अपनी हरकतों पर उतर आए और उन्होंने बच्चे का चेहरा नहीं देखने दिया। रविवार को पोस्टमार्टम के बाद 9 माह के बच्चे का संस्कार कर दिया गया।

थाना डिवीजन नं. 2 के प्रभारी जब अर्शप्रीत कौर से पूछा गया कि क्या मां ने अपने बच्चे के अंतिम दर्शन किए तो प्रभारी का कहना है कि उनके इलाके में लड़ाई झगड़ा हुआ है। माता पिता बच्चे के शव को खींच रहे थे। फिलहाल पुलिस ने पूजा के बयान पर ससुराल पक्ष के खिलाफ मारपीट के आरोप में केस दर्ज किया गया है।जबकि थाना हैबोवाल प्रभारी सिमरनजीत कौर से बातचीत करने पर उन्होंने कहा कि उनके इलाके में मारपीट नहीं हुई है। जहां मृत बच्चे के साथ खींचातनी व मारपीट हुई वो इलाका थाना डिवीजन नं. 2 का है। मृत बच्चे की मां ने चेहरा देखा है या नहीं इस बारे में उन्हें जानकारी नहीं है।
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vatika

Related News

Recommended News