चुनाव प्रचार में चमका शॉल का स्टाइल : पारंपरिक लोई ओढ़ते हैं चन्नी तो मैचिंग में सिद्धू सबसे आगे (PICS)

punjabkesari.in Friday, Jan 14, 2022 - 10:10 AM (IST)

चंडीगढ़(रमनजीत सिंह) : भले ही पंजाब में होने वाले विधानसभा चुनावों ने राजनीतिक माहौल गर्मा रखा है, लेकिन वैस्टर्न डिस्टर्बैंस की वजह से हुई ताजा बर्फबारी और बारिश की वजह से कंपकंपाने वाली सर्द हवाएं भी चल रही हैं। ऐसे में राजनेताओं ने भी भारी-भरकम जैकेट्स पहनने के बजाय शॉल व लोई ओढ़ने को प्राथमिकता देनी शुरू की हुई है। हालांकि मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी लोई ओढ़ने के शौकीन हैं और अकसर पारंपरिक रूप से चलने वाले क्रीम व भूरे रंग की लोई ओढ़ते हैं, लेकिन उनके ही साथी व पंजाब कांग्रेस के प्रधान नवजोत सिंह सिद्धू अपने चटखदार रंगों वाले पठानी कुर्ते-पायजामे की तरह ही चटखदार रंगों व विभिन्न पैटर्न के शॉल ओढ़ने के शौक रखते हैं। इसी तरह से ट्रांसपोर्ट मंत्री अमरिंदर सिंह राजा वड़िंग भी अकसर नहीं तो कभी-कभार लोई ओढ़े नजर आते रहे हैं।

यह भी पढ़ें : कांग्रेस पंजाब में काटेगी 17 विधायकों का पत्ता, बैठक में 30 नाम फाइनल

PunjabKesari

अमिताभ बच्चन को भी चटख रंग के शॉल पसंद
पंजाब कांग्रेस के प्रधान, पूर्व क्रिकेटर, कमैंटेटर व स्पीकर नवजोत सिंह सिद्धू अपने व्यक्तित्व की ही तरह बोल्ड और मौसम के अनुसार चटखीले रंग के कपड़े पहनने को तरजीह देते हैं। फिर चाहे उन्होंने पठानी कुर्ता-पायजामा पहना हो या फिर थ्री-पीस सूट। ऊपर से ओढ़ने के लिए यदि शॉल की बात आती है तो वह भी नवजोत सिंह सिद्धू की अन्य कपड़ों की पसंद के मुताबिक बोल्ड कलर के ही हैं। इसके साथ ही सिद्धू इस बात का भी ख्याल रखते हैं कि शॉल उनके कुर्ते और पगड़ी के रंग के साथ कॉन्ट्रास्ट मैच करता हो और सिद्धू साथ ही शॉल के बेस कलर से मैच करती हुई फिफ्टी भी पगड़ी के नीचे बांधना नहीं भूलते। चर्चा है कि नवजोत सिंह सिद्धू के यह शॉल काफी महंगे भी होते हैं। इनमें से कई तो नवजोत सिंह सिद्धू को उनके देश-विदेश में रहने वाले मित्रों द्वारा उन्हें उपहार स्वरूप भेंट भी किए गए हैं। इनमें न सिर्फ कश्मीरी, पाकिस्तानी बल्कि पंजाबी फुलकारी के शॉल भी शामिल हैं। नवजोत सिंह सिद्धू की ही तरह बॉलीवुड के सुपरस्टार अमिताभ बच्चन को भी चटख रंगों के शॉल ओढ़े हुए देखा गया है।

PunjabKesari

धार्मिक चिन्ह वाली शॉल पर हो चुका विवाद
ऐसा नहीं है कि पंजाब कांग्रेस प्रधान नवजोत सिंह सिद्धू के शॉल ओढ़ने के स्टाइल से उन्हें सिर्फ तारीफें ही मिलती रही हों, बल्कि एक शॉल उनके लिए परेशानी का सबब भी बन चुका है। पंजाब के कैबिनेट मंत्री रैंक से इस्तीफा देकर राजनीति से दूर रहने के वक्त दिसम्बर 2020 में नवजोत सिंह सिद्धू ने सिख धार्मिक चिन्हों वाला शॉल ओढ़ा था। इसकी वजह से कई धार्मिक जत्थेबंदियों ने आपत्ति जताई थी, जिसके बाद नवजोत सिंह सिद्धू को अनजाने में हुई गलती के लिए माफी भी मांगनी पड़ी थी।

यह भी पढ़ें : क्या पंजाब में लगेगा Weekend Lockdown?

चन्नी का भी रहा है लोई ओढ़ने का स्टाइल
मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी को अकसर ही सर्दियों के मौसम में लोई ओढ़े देखा जा सकता है। मुख्यमंत्री ज्यादातर क्रीम कलर की या हल्के भूरे कलर की लोई ओढ़ना ही पसंद करते हैं और उसे भी बिल्कुल देसी स्टाइल से ओढ़ते हैं। मुख्यमंत्री बनने से पहले तकनीकी शिक्षा मंत्री के तौर पर चरणजीत सिंह चन्नी द्वारा लोई ओढ़कर विधानसभा पहुंचने की वजह से कई तरह की चर्चाओं को भी जन्म मिला था और उनके लोई ओढ़ने को लेकर टोटके के साथ भी जोड़ा गया था, लेकिन मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने किसी भी तरह की चर्चाओं को अहमियत न देते हुए इस बार की सर्दी शुरू होते ही फिर से लोई ओढ़ने की शुरूआत कर दी थी।

PunjabKesari

वड़िंग और नागरा भी लोई ओढ़ने के शौकीन
पंजाब के ट्रांसपोर्ट मंत्री अमरिंदर सिंह राजा वड़िंग और विधायक कुलजीत सिंह नागरा भी लोई ओढ़ने के शौकीन हैं, लेकिन वह कभी-कभार ही लोई ओढ़ते हैं। राजा वड़िंग को अकसर हल्के भूरे रंग की लोई में देखा गया है। हाल ही में जब अमरिंदर सिंह राजा वड़िंग आम आदमी पार्टी के सुप्रीमो व दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से पंजाब की सरकारी बसों के मामले संबंधी अमृतसर के एक होटल में मिलने पहुंचे थे तब भी वह हलके भूरे रंग की लोई ओढ़े हुए थे। कुलजीत सिंह नागरा का क्रीम कलर से लगाव ज्यादा दिखाई देता है, जिसे कि सफेद रंग के कुर्ते-पायजामे के साथ ओढ़ा जाता है। इसी तरह पंजाब के मंत्री राणा गुरजीत सिंह, आप विधायक कुलतार सिंह संधवां भी कभी-कभार लोई या शॉल ओढ़े दिखाई दे जाते हैं।

अपने शहर की खबरें Whatsapp पर पढ़ने के लिए Click Here

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Her


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Sunita sarangal

Related News

Recommended News