आसमान छू रहे हवाई टिकटों के भाव, यूक्रेन में फंसे विद्यार्थियों के लिए बढ़ी परेशानी

punjabkesari.in Tuesday, Mar 01, 2022 - 12:58 PM (IST)

जालंधर (पुनीत): क्रीमिया शहर इस समय सुरक्षित है, इस कारण यहां के विद्यार्थी दूसरे देशों के बार्डर के रास्ते भारत जाने के लिए निकल रहे हैं। वहां मौजूद भारतीय नागरिक एच. सिंह ने बताया कि 2014 में रशिया ने क्रीमिया को कैप्चर कर लिया था, जिसके बाद वहां के हालात खराब होने के कारण अंदेशा पैदा हो रहा था। अब आने वाले कुछ दिनों में हालात बिगड़ने का अंदाजा है। हवाई हमलों के कारण क्रीमिया में एयरपोर्ट को बंद कर दिया गया है। सिर्फ एमरजेंसी फ्लाइट का आना संभव हो सकता है और साधारण फ्लाइटों को यूक्रेन में आने की इजाजत नहीं है। उन्होंने बताया कि भारतीय समय के अनुसार सोमवार को दोपहर के समय क्रीमिया की यूनिवर्सिटी से 50 के लगभग विद्यार्थी रवाना हुए। ट्रेन के जरिए 34 घंटों का सफर तय कर वह मॉस्को पहुंचेंगे और वहां से उन्हें फ्लाइटें मुहैया हो सकेंगी।

यह भी पढ़ें : अमृतसर एयरपोर्ट पर 3 तस्कर गिरफ्तार, करोड़ों का सोना बरामद

भारत सरकार की तरफ से जो इंतजाम किए जा रहे हैं, उनके उलट विद्यार्थी अपने स्तर पर भारत रवाना होने के यत्न कर रहे हैं क्योंकि क्रीमिया में भी हालात खराब हो सकते हैं। कई विद्यार्थियों के माता-पिता उन्हें महंगे भाव पर टिकटें लेकर भारत आने के लिए कह रहे हैं, जिस कारण कई एयरलाइनों द्वारा टिकटों के भाव बहुत बड़ा दिए गए हैं। जो विद्यार्थी 34 घंटों बाद मॉस्को पहुंचेंगे, उन्हें आम तौर पर 20 हजार रुपए में मिलने वाली टिकट के 45 हजार रुपए अदा करने पड़ सकते हैं। उन्हें जानकारी मिली है कि बीते दिनों कुछ विद्यार्थी 50 हजार रुपए से अधिक का खर्च कर वापिस लौटे हैं। मॉस्को से भी सीधी फ्लाइट उन्हें मुहैया नहीं हो रही। इसलिए विद्यार्थियों को जो कोई फ्लाइ मिलेगी, वह शारजाह होते हुए भारत पहुंचेगी।

यह भी पढ़ें : नाजायज संबंधों ने उजाड़ा परिवार, विदेश से लौटे नौजवान ने उठाया खौफनाक कदम

बताया जा रहा है कि जो फ्लाइट सीधी दिल्ली आती थी, उसका संचालन भी घटा दिया गया है। यह फ्लाइट रोज जाती थी अब इसे हफ्ते में एक दिन कर दिया गया है। इसका रुटीन में किराया 80 हजार से कम होता था पर अब इसका किराया 1.50 लाख रुपए से अधिक बताया जा रहा है।

यह भी पढ़ें : यूक्रेन में फंसे पंजाबी विद्यार्थियों को लेकर बोले उप-मुख्यमंत्री ओ.पी. सोनी

300 विद्यार्थी मंगलवार दोपहर होंगे रवाना
सिंह ने बताया कि ट्रेन मुहैया न होने के कारण विद्यार्थी बसों के जरिए भी रवाना होने के लिए तैयार हैं। इस लड़ी में क्रीमिया यूनिवर्सिटी से जो जानकारी मिली है, उसके मुताबिक मंगलवार को दोपहर 300 के लगभग भारतीय विद्यार्थी पोलैंड के लिए रवाना होंगे। वहां भारतियों को बिना वीजा आने की इजाजत मिल चुकी है, इस कारण विद्यार्थी अब बड़ी संख्या में रवाना हो सकते हैं।

यह भी पढ़ें : पुलिस प्रशासन पर उठे सवाल, दिन-दिहाड़े घर में दाखिल होकर हमलावरों ने चलाई गोलियां

सामान छोड़ कर निकल रहे विद्यार्थी 
बताया जा रहा है कि रास्ते में चैकिंग आदि के लिए काफी समय लग रहा है। जो लोग बसों के जरिए जा रहे हैं, उन्हें 5 घंटों के सफर के लिए 25 घंटो का समय लग रहा है। हर 5-10 किलोमीटर के बाद आर्मी की चेक पोस्ट है, जहां पूरे सामान की जांच कर आगे जाने दिया जा रहा है। इस चैकिंग में बड़ा समय लग रहा है। यूनिवर्सिटी की तरफ से विद्यार्थियों को कम से कम सामान ले जाने के लिए कहा जा रहा है जिससे उनका समय बच सके। इस कारण विद्यार्थी खुद ही अपना सामान छोड़ने को तैयार हैं जिससे वह जल्द से जल्द भारत रवाना हो सकें। 

अपने शहर की खबरें Whatsapp पर पढ़ने के लिए Click Here

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

Kalash

Related News

Recommended News