पावरकॉम के सभी थर्मल प्लांट बंद

10/21/2020 10:14:59 AM

पटियाला(मनदीप जोसन): पंजाब में चल रहे किसानों के संघर्ष के कारण कोयले की आई कमी के चलते पावरकॉम के सभी थर्मल प्लांट बंद हो चुके हैं और बिजली की कमी को पूरा करने के लिए पावरकॉम ने आज राज्य में आई बिजली की 1437 लाख यूनिट डिमांड को पूरा करने के लिए 1188 लाख यूनिट बिजली केंद्रीय ग्रिड से खरीदी है।पावरकॉम के पास अपने थर्मल प्लांटों और प्राइवेट थर्मल प्लांटों के कुल 51 यूनिट हैं और यह सभी ही आज पूरी तरह बंद हो गए हैं। हालांकि इनमें से कुछ को तो पहले ही कम डिमांड करके बंद किया था और कुछ अब कोयले की कमी के कारण बंद हो गए हैं। इस तरह थर्मलों से पंजाब में इस समय बिजली का उत्पादन जीरो है। पावरकॉम के आंकड़े इस बात की गवाही भरते हैं कि 4 थर्मलों के पास कोयला नहीं है। 2 में 6 और 4 दिन का कोयला बचा है। पावरकॉम ने जिन थर्मलों के पास कुछ दिन का कोयला है, उनको भी बंद कर दिया है ताकि एमरजैंसी में इनसे काम लिया जा सके।

एक अक्तूबर से एवरेज प्रतिदिन 1390 लाख  यूनिट बिजली खरीद रहा है पावरकॉम
पावरकॉम ने डिमांड को पूरा करने के लिए एक से 20 अक्तूबर तक एवरेज प्रतिदिन 1390 लाख यूनिट बिजली खरीदी है। इस के साथ ही पावरकॉम को अपने हाइडलों से 102 लाख यूनिट, एन.आर.एस.ई. से 85 लाख यूनिट, बी.बी.एम.बी. से 103 लाख यूनिट, बैंकिंग से 38 लाख यूनिट बिजली मिली है।

नहीं हो सकता पंजाब में ब्लैक आऊट
इस समय सभी थर्मल बंद हो जाने के बाद भी पंजाब में ब्लैक आऊट नहीं हो सकता क्योंकि पूरा पंजाब केंद्रीय ग्रिड के साथ जुड़ा हुआ है, जहां से बिना किसी नोटिस से भी बिजली ली जा सकती है परन्तु यह महंगी पड़ती है। पावरकॉम को इस समय केंद्रीय ग्रिड से भी बिजली बहुती महंगी नहीं मिल रही है क्योंकि गर्मी खत्म हो जाने के साथ केंद्रीय ग्रिड के पास बिजली के भंडार पड़े हैं। यही बड़ा कारण है कि पंजाब सरकार और पावरकॉम मैनेजमैंट इस मामले से बहुत ज्यादा चिंतित नहीं है।


Vatika

Related News