कैप्टन के पास है सीमित सियासी विकल्प, बन सकते हैं ''किसान आंदोलन'' का चेहरा

9/24/2021 12:08:49 PM

लुधियाना (हितेश): कैप्टन अमरिंदर सिंह द्वारा मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद भले ही उन्होंने फिलहाल पार्टी छोड़ने का संकेत नहीं दिया है। लेकिन जिस तरह कांग्रेस हाईकमान खासकर गांधी परिवार व नवजोत पर लगातार हमले किए जा रहे हैं उसे देख कर यह कहना गलत नहीं होगा कि कैप्टन किसी भी समय कांग्रेस को अलविदा कह सकते हैं। इसके तहत उन्होंने राजनीति न छोड़ने का दावा करते हुए करीबियों के साथ सलाह करने के बाद अगले कदम का फैसला करने की बात कही है। हालांकि उनके पास सीमित सियासी विकल्प है क्योंकि अकाली दल व आम आदमी पार्टी के साथ कैप्टन के रिश्तों में जितनी कड़वाहट है वो इतनी आसानी से कम नहीं होगी। इस दौर में उनके भाजपा में जाने की अटकलें सबसे ज्यादा लगाई जा रही है। लेकिन इसके लिए पहले कृषि कानूनों को लेकर चल रहे विवाद को हल करवाना जरूरी है। इसके मद्देनजर कैप्टन के आने वाले दिनों में किसान आंदोलन का चेहरा बनने की संभावना जताई जा रही है क्योंकि किसान नेताओं के साथ उनके संबंध पहले दिन से ही अच्छे रहे हैं। 

सी.एम. बनाने के लिए परनीत कौर के नाम पर भी हुई थी चर्चा
मिली जानकारी के मुताबिक जब नया मुख्यमंत्री बनाने की कवायद चल रही थी तो अंबिका सोनी, सुनील जाखड़, सुखजिंदर रंधावा, नवजोत सिद्धू के अलावा परनीत कौर के नाम पर भी चर्चा हुई थी। यहां तक कि विधायकों से वोटिंग करवाने के लिए भी उनका नाम शामिल किया गया था। हालांकि उसके बाद से लेकर अब तक कैप्टन को हटाने के मुद्दे पर परनीत कौर की कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है और वह पटियाला में पूरी तरह सक्रिय नजर आ रहीं हैं। 

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Tania pathak

Recommended News

static