CM मान ने PIMS में वित्तीय संकट का कारण बने घोटालों और खामियों की जांच के दिए आदेश

punjabkesari.in Thursday, Jun 02, 2022 - 04:25 PM (IST)

चंडीगढ़: पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने आज दोआबा क्षेत्र की प्रमुख स्वास्थ्य संस्था पंजाब इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसज़ (पी.आई.एम.एस) में करदाताओं के पैसों का नुकसान करने के साथ-साथ उन्होंने अन्य ख़ामियों का पता लगाने के लिए गहराई से जांच के आदेश दिए हैं, जो इस संस्था के लिए वित्तीय संकट का कारण बने। मुख्यमंत्री ने यहां अपने सरकारी आवास में पी.आई.एम.एस. सोसायटी की 37वीं गवर्निंग बॉडी की अध्यक्षता की, अध्यक्षता करते हुए कहा कि इस प्रमुख संस्था में वित्तीय संकट एक गंभीर चिंता का विषय है और सरकार हाथ पर हाथ रखकर नहीं बैठ सकती और राज्य में स्वास्थ्य सेवाओं को खतरे में डालने की इस साजि़श को चलने नहीं दे सकती। 

PunjabKesari

मुख्यमंत्री ने स्पष्ट शब्दों में कहा कि यह कितनी हैरानी की बात है कि पिछले छह सालों में गवर्निंग बॉडी की एक भी बैठक नहीं हुई। उन्होंने कहा कि कई खामियाँ गंभीर घोटालों की ओर इशारा करती हैं। भगवंत मान ने कहा कि इन ख़ामियों और गबन के लिए जि़म्मेदार व्यक्तियों को बख़्शा नहीं जाएगा और उनके विरुद्ध सख़्त से सख़्त कार्रवाई की जाएगी।Cमुख्यमंत्री ने स्पष्ट रूप से कहा कि जाँच निष्पक्ष, पारदर्शी और नतीजामुखी ढंग से निर्धारित समय के अंदर होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि इस वित्तीय संकट के लिए जि़म्मेदार दोषियों को बख़्शा नहीं जाएगा और इस गड़बड़ी के लिए उनकी जवाबदेही तय की जाएगी। भगवंत मान ने स्पष्ट रूप से कहा कि अब समय आ गया है जब उन सभी के विरुद्ध निर्णायक कार्यवाही की जाए, जो लोगों के पैसों का दुरुपयोग करने में जि़म्मेदार हैं, जिससे संस्था में गंभीर वित्तीय संकट पैदा हुआ है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि दोआबा क्षेत्र के केंद्र में स्थित यह संस्था लोगों को मानक स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान करने के लिए अहम भूमिका निभा सकती है। भगवंत मान ने कहा कि यह संस्था पहले ही अत्याधुनिक बुनियादी ढांचे से लैस है, जिस कारण इसको विश्व स्तरीय मडिकल संस्था के रूप में विकसित करने के लिए प्रयास किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार इस नेक कार्य के लिए कोई कसर बाकी नहीं छोड़ेगी और जल्द ही इस संस्था को पुनर्जीवित करने के लिए विस्तृत रोडमैप तैयार किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने इस संस्था को प्रभावशाली ढंग से चलाने के लिए गवर्निंग काऊंसिल को पूर्ण सहयोग का आश्वासन दिया। उन्होंने कहा कि लोगों को मानक स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करने के लिए उनकी सरकार दृढ़ वचनबद्ध है और इस सम्बन्धी पहले ही ठोस प्रयास किए जा रहे हैं। भगवंत मान ने सोसायटी के सदस्यों को लोगों के भले के लिए सक्रियता के साथ काम करने के लिए कहा।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vatika

Related News

Recommended News