अमृतसर और तरनतारन में जारी रहेगा कर्फ्यू, नहीं मिलेगी कोई ढील

punjabkesari.in Monday, Apr 20, 2020 - 11:23 AM (IST)

अमृतसर/तरनतारन : कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के बीच सरकार ने 20 अप्रैल से कुछ रियायत देने का फैसला किया था जिसे देर शाम वापिस ले लिया है। डिप्टी कमिश्नर शिवदुलार सिंह ढिल्लों ने कहा कि जिले में तीन मई तक कर्फ्यू में किसी भी तरह की ढील नहीं दी जाएगी। तीन मई के हालतों को देखने के बाद ही कुछ फैसला लिया जाएगा।  

रविवार को मुख्यमंत्री के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के बाद डिप्टी कमिश्नर ने ये जानकारी सांझा की। डीसी ने कहा इस दौरान सिर्फ गेहूं की फसल की संभाल के लिए किसानों और मजदूरों को ही छूट दी गई है। वे लोग भी कोविड-19 की जरूरी सावधानियों को ध्यान में रखते हुए ही खेतों में काम करेंगे और गेहूं की संभाल करेंगे। उन्होंने कहा किसान और मजदूर काम करते समय मास्क लगाएंगे और फिजिकल डिस्टेंसिंग का भी ध्यान रखेंगे। इसी के साथ प्रदेश सरकार द्वारा दी हिदायतों का भी ख़ास ख्याल रखा जाएगा।  

दुकानों पर रखा जाएगा ख़ास ध्यान 
उन्होंने कहा कि करियाना व अन्य जरूरी चीजों वाली दुकानों पर भीड़ इकट्ठी ना होना, इसे यकीनी बनाया जाएगा। करियाना की दुकानों व अन्य पर खरीदारी के दौरान सोशल डिस्टेंस नियम का खास ध्यान रखा जाएगा। कर्फ्यू  में अब से पहले से भी ज्यादा सख्ती की जाएगी। नियमों की उल्लंघन करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी और उनके खिलाफ केस भी दर्ज किए जाएंगे।

मजदूरों को काम वाली जगह पर रखने से ही चला पाएंगे उद्योग 
डीसी ने कहा कि गांव में चलने वाले छोटे उद्योग तभी काम कर सकेंगे अगर भी अपने मजदूरों को काम वाले जगह पर ही रखें। यहां 10 मुलाजिमों के लिए 30 सीटों वाली बस आने जाने के लिए इस्तेमाल कर सकते हों। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि सभी मुलाजिमों का मेडिकल बीमा करवाना भी सुनिश्चित करवाना होगा तभी उस उद्योग को परमिट दिया जा सकेगा। उन्होंने कहा कहा कि काम करने वाले कर्मचारियों को औद्योगिक यूनिटों से बाहर आने की आज्ञा नहीं होगी।

राज्य सरकार के फैसले के बाद कोई ढील नही दी जाएगी 
तरनतारन में डीसी प्रदीप कुमार सभ्रवाल ने बताया कि तालाबंदी के दौरान राज्य सरकार की ओर से एक दिन पहले कुछ क्षेत्रों में जो छूट देने का जो फैसला लिया था वह देर शाम वापस ले लिया गया है। अब तीन मई तक जिला मुकम्मल तौर पर बंद रहेगा। राज्य सरकार की ओर से अपना वह फैसला वापस ले लिया है। जिसमें राट्रीय राजमार्ग पर ढाबे, फैक्टियां, एसी, कूलर दुकानें, स्पेयर पार्ट्स बुक स्टोर  के आधार पर खोले जाने थे। प्रदेश में कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के मद्देनजर यह फैसला लिया गया है कि तीन मई तक किसी कोई छूट नहीं दी जाएगी। अब कोई भी फैसला तीन मई के बाद प्रदेश के हालातों को देखते ही लिया जाएगा।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Author

Riya bawa

Related News

Recommended News