भ्रष्टाचार मामले के बाद अतिरिक्त प्रभार के सहारे वन विभाग

punjabkesari.in Tuesday, Jun 28, 2022 - 10:45 AM (IST)

चंडीगढ़ (रमनजीत): विजिलेंस ब्यूरो द्वारा पूर्व वन मंत्री साधु सिंह धर्मसोत को भ्रष्टाचार के आरोपों में गिरफ्तार किए जाने के बाद वन विभाग में लगातार हलचल मची हुई है। पूर्व मंत्री धर्मसोत के साथ तत्कालीन डी.एफ.ओ. मोहाली व वन विभाग के एक ठेकेदार की गिरफ्तारी के बाद कई अधिकारियों पर भ्रष्टाचार मामले में नाम आने की तलवार लटकी हुई है। सूत्रों के मुताबिक अवैध पेड़ कटाई व विभाग में खरीद संबंधी कई दस्तावेजों की जांच करने के बाद विजिलैंस ब्यूरो द्वारा बनाई गई रिपोर्ट के आधार पर विभाग में लगातार अधिकारियों के तबादले किए जा रहे हैं। कई महीनों की मशक्कत के बाद वन विभाग की उच्चतम पोस्ट यानी प्रिंसिपल चीफ कंजर्वेटर ऑफ फोरैस्ट, हैड ऑफ फोरैस्ट फोर्स पद पर विभाग के सबसे सीनियर अधिकारी रमन कांत मिश्रा को बैठाया गया है। 

हालांकि यह जिम्मेदारी मिश्रा को अतिरिक्त प्रभार के तौर पर दी गई है। पूर्व मंत्री धर्मसोत के कार्यकाल से पी.सी.सी.एफ. (हॉफ) तैनात रहे प्रवीन कुमार को चीफ वाइल्ड लाइफ वार्डन एवं अतिरिक्त प्रभार के तौर पर प्रिंसिपल चीफ कंजर्वेटर (वाइल्ड लाइफ) तैनात किया गया है। धर्मेंद्र शर्मा को एडिशनल पी.सी.सी.एफ. (प्रशासन) व अतिरिक्त प्रभार सी.ई.ओ. (पनकैंपा) लगाया गया है। बसंता राजकुमार को मुख्य वन पाल (हिल्ज) के साथ अतिरिक्त तौर पर चीफ विजिलेंस ऑफिसर एवं नोडल अधिकारी (एफ.सी.ए.) लगाया गया है। एन.एस. रंधावा को सी.सी.एफ. (प्लेन्स) के साथ अतिरिक्त तौर पर एडीशनल पी.सी.सी.एफ. (विकास) लगाया गया है। के. कन्नन को विशेष सचिव खेतीबाड़ी व वन पाल शिवालिक सर्कल और अतिरिक्त तौर पर संयुक्त सी.ई.ओ. (पनकैंपा), विशाल चौहान को वन पाल (वर्किंग प्लान) लगाया गया है। 

अपने शहर की खबरें Whatsapp पर पढ़ने के लिए Click Here

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

Urmila

Related News

Recommended News