11 किलो हैरोइन मामले में मुख्य आरोपी बी.एस.एफ. सिपाही गिरफ्तार

11/19/2020 10:02:44 AM

चंडीगढ़(रमनजीत): बीते कल 11 किलोग्राम हेरोइन की खेप की जांच संबंधी अगली कार्रवाई करते हुए पंजाब पुलिस ने आज पाकिस्तान की सहायता प्राप्त तस्कर की गुत्थी सुलझाते हुए मुख्य आरोपी बी.एस.एफ. सिपाही और उसके दो अन्य साथियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने दो बार नशे की खेपों से सरहद पार से भेजे गए हथियार भी बरामद किए हैं। आज की गिरफ्तारी से इस मामले में अब तक 7 व्यक्तियों को गिरफ्तार किया जा चुका है।

साझी कार्रवाई के अंतर्गत जालंधर ग्रामीण पुलिस ने तालमेल करके गंगानगर (राजस्थान) स्थित बी.एस.एफ. के कॉम्पलैक्स से गिरफ्तार किए गए सिपाही बरिंद्र सिंह के पास से एक 0.30 का विदेशी पिस्तौल, 1 बुलेट मोटरसाइकिल और 745 ग्राम हेरोइन बरामद की गई। पूछताछ के बाद आज दो अन्य मुलजिम बलकार सिंह बल्ली पुत्र गुरमेल सिंह निवासी श्रीकरनपुर गंगानगर और जगमोहन सिंह जग्गू निवासी गंगानगर को गिरफ्तार किया गया। एक अन्य तस्करी में .30 बोर की पिस्तौल और 8 लाख रुपए, एक वर्ना कार भी बलकार सिंह से बरामद की है।

इस संबंधी जानकारी देते हुए डी.जी.पी. दिनकर गुप्ता ने बताया कि बी.एस.एफ. के सिपाही ने भारत-पाक सरहद पार से नशे लाने और दोषियों के हवाले करने में अहम भूमिका निभाई है। हवलदार बरिंद्र सिंह, (नं. 11050069, 91 बी.एन.) मुख्यालय श्रीकरनपुर निवासी जस्सी पौ वाली, जिला बठिंडा, जो मौजूदा समय 14-एस माझीवाला चौकी, करनपुर में तैनात था, से राजस्थान में बी.एस.एफ. के क्षेत्र में साझे तौर पर पूछताछ की जा रही है। पुलिस ने कल चार नशा तस्करों को गिरफ्तार किया था जिनके कब्जे से 11 किलो हेरोइन और 11.25 लाख नशीली दवाएं बरामद हुई हैं। इसके अलावा एक आई 20 कार (एचआर 26 बीक्यू4401) और वर्ना कार भी जब्त की गई है।

जांच के दौरान अब तक यह पता लगा है कि राजस्थान में भारत-पाक सरहद पार से 2 खेपों में क्रमवार 5 किलो (लगभग 3 महीने पहले) और 20 किलो हेरोइन (लगभग 1 महीना पहले) तस्करी की गई थी। 5 किलो हेरोइन में से 4 किलो की पहली खेप की बिक्री से मिली नाजायज नशे की आमदनी (लगभग 78 लाख रुपए) और दूसरी खेप के लिए रुपए पहले ही हवाला के जरिए पाकिस्तान पहुंच गए थे।

डी.जी.पी. ने आगे बताया कि अब तक की गई जांच के अनुसार नशे की दूसरी खेप (20 किलो) से नशे की अभी पाकिस्तान में वापस नहीं भेजी जा सकी। उन्होंने बताया कि हर नशे की खेप से पाकिस्तान से 2 हथियार भी भेजे गए थे, जिनमें से कल दोनों हथियार 73 जिंदा कारतूस और 5 मैगजीन बरामद कर लिए गए हैं। इस मुहिम का नेतृत्व पंजाब पुलिस की टीम ने किया जो कि कल सुबह गंगानगर पहुंची थी जिसने बी.एस.एफ. के अधिकारियों को पूरे विवरण दिए और उन्होंने इस उच्च स्तरीय जांच में पूरा सहयोग दिया। इसके उपरांत बी.एस.एफ. के सिपाही को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है।

इस संबंधी एफ.आई.आर. नं. 313/2020 एन.डी.पी.एस. एक्ट, 1985 की धारा 21 (सी) के अंतर्गत थाना शाहकोट, जालंधर (ग्रामीण) में दर्ज की गई है। कल गिरफ्तार किए गए 4 नशा और हथियार तस्करों में रणजीत सिंह पुत्र सुखदेव सिंह निवासी किलसा थाना सदर फिरोजपुर, हरजिंद्रपाल सिंह पुत्र प्रेम सिंह निवासी किलसा थाना सदर फिरोजपुर, संजीत उर्फ मिंटू पुत्र अनैत राम निवासी मोहल्ला भारत नगर, फिरोजपुर, किशन सिंह उर्फ दौलत पुत्र गुरदेव सिंह निवासी 14-एस माजीवाल, थाना करनपुर जिला गंगानगर, राजस्थान के नाम शामिल हैं।


Sunita sarangal

Recommended News