मजीठिया का सरकार पर निशाना, तोमर के ''भीड़'' वाले बयान का दिया करारा जवाब

2/27/2021 3:52:05 PM

मजीठा (सर्बजीत वडाला): मजीठा निवासी एक किसान नेता संघर्ष के दौरान 18 फरवरी को शहीद हो गए थे। किसान तरसेम सिंह खालसा 2 महीने से दिल्ली रोष धरने में जा रहे थे। आज हलका विधायक और पूर्व कैबिनेट मंत्री बिक्रम सिंह मजीठिया किसान के परिवार से मिलने उनके गांव पहुंचे। इस मौके पत्रकारों के साथ बातचीत करते हुए उन्होंने कहा कि सरकार किसानी संघर्ष को खत्म करना चाहती है।

ये भी पढ़े: शादी के बाद पत्नी लगाती रही चूना, कनाडा ले जाने का सपना दिखा किया ये कांड
उन्हें कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर के भीड़ वाले बयान की निंदा करते हुए कहा कि किसान आंदोलन में जुड़े लोग भीड़ नहीं बल्कि किसानों के जज्बात हैं। भाजपा सरकार लोगों का दर्द नहीं समझ पाई है। मजीठिया ने कहा कि भाजपा जहां एक तरफ अपने आप को देश भक्त कहलाने के लिए स्टेजों से जय जवान जय किसान के बड़े-बड़े नारे लगाते हैं तो दूसरी तरफ किसानों को कभी खालिस्तानी और कभी देश विरोधी कह कर अपमान करते है। सही मायने में भाजपा सरकार किसान और जवान विरोधी है।

PunjabKesari
केंद्र सरकार किसानों और मजदूर की बात नहीं सुन रही। उन्होंने कहा शिरोमणी अकाली दल की तरफ से किसानी संघर्ष को हर संभव सहयोग जारी रहेगा। मजीठिया ने कहा कि तरसेम सिंह के परिवार के हौसले बुलंद हैं। उन्होंने कहा किसानों का एक ही मकसद है खेती कानूनों को रद्द करवाना है परन्तु बहुत दुख की बात है कि सरकार किसानों की बात तक सुनने को तैयार नहीं। 

ये भी पढ़े: एक हजार रुपए के लिए किराएदार को उतारा मौत के घाट, लाश का हाल देख उड़े पुलिस के होश
इस मौके बिक्रम मजीठिया की तरफ से किसान के परिवार को शिरोमणी अकाली दल की तरफ से एक लाख रुपए का चेक दिया गया। इस मौके समिति के सीनियर प्रधान सुरजीत सिंह, शिरोमणी समिति मैंबर जोध सिंह, गगनदीप सिंह, पटवारी गुरप्रीत सिंह, पूर्व सरपंच सुखचैन सिंह आदि के अलावा कई नेता और वर्कर उपस्थित थे। 

पंजाब और अपने शहर की अन्य खबरें पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here


Content Writer

Tania pathak

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News

static