नवजोत सिद्धू के बाद परगट सिंह ने भी खोला मोर्चा, कैप्टन पर दिया बड़ा बयान

punjabkesari.in Monday, May 03, 2021 - 01:03 PM (IST)

जालंधर(रमनदीप सिंह सोढी): जालंधर कैंट से विधायक परगट सिंह जो आम तौर पर अपनी सरकार की खामियों बारे मीटिंगों के बीच व मीडिया में भी काफी बोलते हैं, बीते समय दौरान उन्होंने पत्रों के माध्यम से कैप्टन अमरेंद्र सिंह को जमीनी हकीकत से अवगत करवाया। अब जब बेअदबी के मामले पर कैप्टन को अपने ही विधायकों ने घेरा डाला तो परगट सिंह ने फिर सार्वजनिक तौर पर अपना विरोध जताना शुरू कर दिया।

परगट मानते हैं कि कैप्टन को कुछ चापलूसों ने गुमराह किया है जो हमेशा ही अपने स्वार्थ की खातिर कैप्टन को सच नहीं बताते व जमीनी हकीकत से अवगत नहीं करवाते। वह लगातार पंप देकर सिस्टम से एक शख्सियत को बड़ा बनाने की कोशिश करते हैं। इन लोगोंं की पहचान बारे पूछने पर उन्होंने कहा कि यह सिर्फ 5 से 7 लोग हैं जो इस तरह के काम करते हैं। उनके मुताबिक राजनीति में सच की गुंजाइश नहीं रह गई व सत्ताधारी को अधिकतर यैसमैन ही पसंद आते हैं। लेकिन उनकी फितरत ऐसी नहीं है। गत दिवस मुख्यमंत्री के साथ विधायकों की मीटिंग में हुई बातचीत का जिक्र करते हुए परगट ने बताया कि उन्होंने कैप्टन अमरेंद्र सिंह को उनके मुंह पर ही यह कह दिया कि अब आप पहले जैसे नहीं रहे जो विरोधियों को छिक्के पर टांग कर रखते थे। मैंने तो यह भी कहा कि अब तो विधायकों या मंत्रियों को लोगों के सामने बैठने के लिए भी नहीं छोड़ा। लेकिन मेरी बातों का उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया, सिर्फ सुनते रहे। परगट के मुताबिक लोगोंं ने कैप्टन के पक्ष में मतदान किया जिन्होंने 84 वाली घटना पर त्यागपत्र दे दिया था और उसके बाद पानी के मुद्दे पर स्टैंड लिया था। 

लोग सवाल करते हैं 
-बादलों के साथ मैच फिक्सिंग की धारणा को तोड़ें कैप्टन
-टिकट काटे जाने की कोई परवाह नहीं, मैं अपने सवाल दृढ़ता के साथ करता रहूंगा।
-राजनीति में सूझवान या सवाल करने वाले नहीं, केवल यैसमैन ही चाहिएं।
-यदि हम टकसाली नहीं थे तो मुझे व सिद्धू को लेकर क्यों आए थे।

बेअदबी मामले पर कांग्रेसी-अकाली बराबर के जिम्मेदार
परगट के मुताबिक बेअदबी मामले में दोनों ही पाॢटयां बराबर की जिम्मेदार बन गई हैं। 
अकालियों की सरकार के समय बेअदबी हुई, 
डेरा मुखी को माफी दे दी गई जिससे माहौल 
खराब हुआ। जबकि हमारी सरकार ने अभी 
तक इसका कोई समाधान ही नहीं किया इसलिए निर्दोष हम भी नहीं हैं। सवाल यह नहीं है कि 
बादल आरोपी हैं या नहीं। 
महत्वपूर्ण यह है कि जो भी आरोपी हैं वे अभी तक सलाखों के पीछे क्यों नहीं हैं। उन्होंने कहा कि अकाली दल की गलतियां हमने अपने गले में डाल लीं जबकि राजनीतिक व सामाजिक तौर पर वे मुद्दे हमारे पक्ष में थे। 

क्या होगा सिद्धू व परगट का राजनीतिक भविष्य
परगट सिंह को जब यह सवाल किया गया कि आपकी न तो पिछली सरकार में बनी और न ही अब बन रही है, ऐसे हालात में क्या आप आम आदमी पार्टी में जा सकते हैं तो उन्होंने जवाब दिया कि हमारा ऐसा कोई प्लान नहीं है। उन्होंने कहा कि आज जो नवजोत सिद्धू के बारे में कहा जा रहा है वह गलत है। दोनों की लड़ाई से किसी मसले का हल नहीं हो सकता। बेशक कुछ लोग कहते हैं कि सिद्धू ज्यादा बोलता है लेकिन सवाल यह है कि हम उसको ऐसा मौका क्यों दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि उन्हें सच बोलने की सजा मिलती रहती है लेकिन उन्हें ऐसा कर नींद बड़ी अ‘छी आती है।
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vatika

Related News

Recommended News