मोदी की अपील के चलते 9 बजे बदली शहर की तस्वीर

4/5/2020 10:07:44 PM

श्री मुक्तसर साहिब (तनेजा, खुराना): देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा कोरोना के आतंक के चलते 5 अप्रैल की रात्रि को 9 बजे बिना इलैक्ट्रोनिक यंत्रों से रोशनी करने की अपील का असर शहर में व्यापक दिखाई दिया। शुक्रवार देर रात दिए गए इस आमंत्रण का असर भले ही लोगों में पहले से ही था लेकिन जैसे ही रविवार की शाम ढलने लगी तो लोगों में मोमबत्तियां, दीए व मोबाइल चार्जिंग की गतिविधियां तेज होने लगी। 

PunjabKesari

बाजार बंद होने के कारण लोग एक दूसरे के घरों से मोमबत्तियां, सरसों का तेल भी मांगते हुए दिखाई दिए जबकि कई लोग प्रधानमंत्री के इस निर्णय को महत शोशेबाजी ही बताते रहे। जैसे ही रात के ठीक 9 बजे लोग अपने घरों की बालकौनियों, छतों व घर के दरवाजों में खड़े हो गए, जिसके बाद चारों ओर पहले अंधेरा छा गया लेकिन फिर एकदम से रोशनी प्रगट होती रही। ठीक 9 बजे बने इस नजारे से पूरे 9 मिनट तक लोग जुड़ते रहे व करीब 9:10 बजे तक शहर की एक अलग ही तस्वीर बनी रही।

PunjabKesari

लोग घरों की छतों पर दीए, मोमबत्तियां जगाते रहे कई जगहों पर लोगों ने अपने मोबाइल फोन की फ्लैश लाईटों का इस्तेमाल भी किया जबकि सवा 9 के करीब वापिस शहर अपने रंग में आ गया। अनाचक तेज हवाओं के चलते अधिकत्तर लोग दीए व मोमबत्तियों के स्थान पर टार्च व अपने-अपने मोबाइल फोन्स के फ्लैश लाइटें जगाते ही दिखाई दिए। जबकि कई जगहों पर लोगों ने जनता कर्फ्यू को याद करते हुए तालियां भी बजाई। साथ ही कहीं लोग कोरोना खात्मे के लिए प्रार्थनाएं करते भी दिखे। सवा 9 बजे के करीब लोग वापिस अपने घरों में दाखिल हुए, लेकिन खबर लिखे जाने तक तालियों की आवाज कानों में गूंजती रही। 

PunjabKesari


Mohit

Related News