PSTET Exam: Answer Leak होने के बाद शिक्षा मंत्री ने किया Tweet, दिए ये आदेश

punjabkesari.in Monday, Mar 13, 2023 - 10:40 AM (IST)

पंजाब डेस्कः विवादों में घिरे पंजाब स्टेट टीचर्ज एलिजिबिलिटी टैस्ट को लेकर शिक्षा मंत्री हरजोत सिंह बैंस ने कार्रवाई के आदेश दे दिए है। दरअसल, शिक्षा मंत्री ने सोशल मीडिया ट्विटर के जरिए प्रिंसीपल सेक्रेटरी स्तर पर जांच और GNDU  को बिना किसी फीस के पेपर दोबारा करवाया जाने के आदेश जारी किए है।

PunjabKesari

अगले ट्वीट में बैंस ने लिखा, भविष्य में ऐसा ना हो, इसके लिए मैंने अपने विभाग को आदेश दिए हैं कि तीसरी पार्टी के साथ MOU साइन करते समय उम्मीदवारों के मुआवजे का क्लॉज भी रखा जाए ... दोषी पाए जाने पर लापरवाही करने वालों पर केस दर्ज किया जाएगा... इसमें परीक्षार्थियों को परेशानी क्यों हो..जल्द परीक्षा की तारीख का ऐलान किया  जाएंगे... । 

PunjabKesari

हुआ यूं है कि इस टैस्ट के सोशल स्टडीज पार्ट के लिए तैयार किए गए प्रश्नपत्र में उत्तर के तौर पर दिए गए चार विकल्पों में से सही विकल्प को पहले से ही बोल्ड करके छापा गया था।  जानकारी के मुताबिक अध्यापकों की सरकारी नौकरियों के लिए टीचर एलिजिबिलिटी टैस्ट पास होना अनिवार्य योग्यता है और सभी राज्यों की सरकारों और केंद्रीय स्कूलों के लिए केंद्र सरकार द्वारा यह तकरीबन हर वर्ष आयोजित किया जाता है और इस टैस्ट में पास होने वाले बी.एड व ई.टी.टी. पास अध्यापक आगे सरकारी नौकरियों में भर्ती का इंतजार करते हैं। 

 

रविवार को पंजाब स्टेट टीचर एलिजिबिलिटी टैस्ट आयोजित किया गया था। यह टैस्ट इस बार पंजाब सरकार की तरफ से अमृतसर स्थित गुरु नानक देव यूनिवर्सिटी द्वारा कंडक्ट किया गया था। जी.एन.डी.यू. द्वारा ही इस टैस्ट के लिए उम्मीदवारों की रजिस्ट्रेशन से लेकर पेपर तैयार करने और उसका नतीजा निकालने के लिए अपने स्टाफ की जिम्मेवारी लगाई गई थी। टी.ई.टी. के प्रश्नपत्र को इस तरीके से तैयार किया जाता है कि इसमें प्रत्येक प्रश्न के लिए चार विकल्प दिए जाते हैं, जिनमें से परीक्षार्थी को एक सही विकल्प को चुनकर उसके बिंदु को पैंसिल से डार्क करना होता है। टी.ई.टी. प्रश्नपत्र के उम्मीदवार के चयन पर आधारित विभिन्न विषयों के भाग होते हैं और रविवार को लिए गए टी.ई.टी. के सामाजिक शिक्षा वाले भाग में जितने भी प्रश्न शामिल किए गए थे। उनके साथ दिए गए चारों विकल्प में से सही उत्तर वाले विकल्प को बोल्ड या हाईलाइट करके छापा गया था। टैस्ट देकर बाहर आए भावी अध्यापकों ने इस गलती को लेकर काफी हंगामा किया और कहा कि तैयारी करके टैस्ट देने वाले उम्मीदवारों की मेहनत पर पानी फिर गया है क्योंकि यह एक प्रकार से पेपर ही लीक हो गया है। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vatika

Related News

Recommended News