पंजाब विधान सभा चुनाव: इलेक्शन कमीशन ने शराब ठेकेदारों को जारी की हिदायतें

punjabkesari.in Friday, Feb 18, 2022 - 03:39 PM (IST)

बठिंडा (वर्मा): चयन कमीशन शराब को लेकर सख्त होता नजर आ रहा है और जिले के सभी 460 ठेकेदार को शराब की 1-1 बोतल का हिसाब देने की हिदायतें जारी की हैं। इतना ही नहीं देसी और अंग्रेजी शराब की छोटी से बड़ी बोतलों की बिक्री का विवरण भी ठेकेदारों को देना होगा। चयन कमीशन चाहता है कि 20 फरवरी को होने वाली मतदान में शराब और नशे का सेवन न किया जाए क्योंकि आम तौर पर वोटरों को लुभाने के लिए पैसे और शराब का दुरुपयोग करते हैं।

यह भी पढ़ेंः बिक्रम मजीठिया के निशाने पर सिद्धू, लोगों से किया यह वादा

चुनाव कमिशन की हिदायतों अनुसार देसी और ब्रांड की शराब की सूची तैयार की जाएगी, यहां तक कि 1-1 बोतल की बिक्री का भी हिसाब देना पड़ेगा। मतदान के बाद कितनी शराब बेची, कितनी कमाई हुई, कितनी बोतलें बिकीं और कितना स्टाक रह गया, इसका सारा हिसाब चयन कमिशन को देना होगा। चयन कमिशन के उड़न दस्ते किसी भी समय ठेके की अचानक चैकिंग कर सकते हैं। मतदान के मद्देनजर जिला पुलिस ने राज मार्गों और अंतर्राज्यीय सरहदों पर नाकेबंदी करके शराब की स्मगलिंग को रोकने के लिए पुख्ता प्रबंध किए हैं।

यह भी पढ़ेंः चुनावों से पहले हाईकमान सख्त, केवल सिंह ढिल्लों के बाद अब कटी इस विधायक की पतंग

जिला चयन अफसर विनीत कुमार ने बताया कि बठिंडा जिले के 6 विधान सभा हलकों में 351 देसी और 109 अंग्रेजी शराब के ठेके हैं। चयन कमिशन की सख्त हिदायतें हैं कि शराब के ठेके पर नजर रखी जाएगी इसलिए यदि किसी ठेके की रोजमर्रा की आमदन 30 प्रतिशत से अधिक है तो उसे इस बारे पूरी जानकारी होनी चाहिए। इसके इलावा झुग्गी-झोंपड़ी वाले क्षेत्र में शराब की बिक्री पर भी नजर रखी जा रही है। ठेके और गोदामों में शराब निर्धारित और स्टाक रजिस्टर से अधिक या कम नहीं होनी चाहिए इसलिए शराब के ठेकेदारों को चाहिए कि वह सरकार की हिदायतों अनुसार ही शराब का स्टाक सही मात्रा में रखना और बेचना यकीनी बनाएं।

यह भी पढ़ेंः अनुराग ठाकुर ने केजरीवाल सहित अन्यों नेताओं पर भी कसा तंज

18 टीमें 6 विधान सभा सर्कलों में घूमेंगी, जबकि 18 टीमें नाके लगा कर करेंगी चैकिंग
चुनाव संहिता की पालना यकीनी बनाने के लिए प्रशासन ने अलग-अलग तरह की टीमों का गठन किया है। इसके अंतर्गत नशा बंद करने के साथ-साथ चयन संहिता का उल्लंघन करने वालों खिलाफ कार्यवाही की जाएगी। मतदान दौरान नशे की स्मगलिंग को रोकने के लिए जिले में आबकारी विभाग की तरफ से 36 टीमों का गठन किया गया है। विभाग की तरफ से गठित 18 टीमें 6 विधान सभा सर्कलों में घूमेंगी, जबकि 18 टीमें नाके लगा कर चैकिंग करेंगी। टीमों में 5.5 मैंबर होते हैं। इनमें किसी भी विभाग के उच्च अधिकारी को शामिल किया गया है जिनके साथ तीन पुलिस मुलाजिम भी होंगे। इसके साथ ही हर टीम के साथ एक वीडियोग्राफर भी होगा, जिसके द्वारा टीम की हर कार्यवाही की वीडियो रिकार्डिंग की जाएगी जिसको बाद में सम्बन्धित हलका चयन अधिकारी को दिया जाएगा। टीमों में शामिल सदस्यों में एक्सियन स्तर के अधिकारी भी शामिल हैं जिसके साथ सहायक जुड़े हुए हैं।

ययह भी पढ़ेंः दहेज की बलि चढ़ी एक और बेटी, मृतक देह देख हर किसी की आंख हुई नम

ई.टी.ओ. कुलविन्दर वर्मा का कहना है कि मतदान दौरान नशे को लेकर जिले में 36 टीमें बनाई गई हैं। हरेक विधान सभा हलके में 6-6 टीमें काम करेंगी। इनमें 3 टीमें हरकत में आएंगी, जबकि 3 टीमें जगह-जगह नाकेबन्दी करके शराब की स्मगलिंग को रोक रही हैं। पंजाब विधान सभा मतदान के लिए जिला प्रशासन की तरफ से 18 फरवरी को शाम 6 बजे से 20 फरवरी को वोटें पड़ने तक और 10 मार्च को वोटों की संख्या होने के कारण ड्राई-डे ऐलान किया गया है। कलेक्टर ने कहा कि शराब के ठेके बंद रहेंगे और पाबंदी कारण शराब स्टोर करने पर पाबंदी रहेगी। इसी तरह नशे वाले पदार्थों को शराब नहीं बेची जा सकती। आदेशों अनुसार 48 घंटों दौरान किसी भी शराब के ठेके, होटल, रैस्टोरेंट, क्लब, जहां शराब और नशे वाले पदार्थों का सेवन होता है वहां मनाही के आदेश लागू होंगे। 

PunjabKesari

अपने शहर की खबरें Whatsapp पर पढ़ने के लिए Click Here

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

Urmila

Related News

Recommended News