बंद के ऐलान पर सुबह ही सड़कों पर उतरा रविदास भाईचारा,जालंधर-दिल्ली हाईवे जाम

8/13/2019 5:10:27 PM

जालंधर: सुप्रीम कोर्ट के अतिक्रमण हटाने के आदेश पर दिल्ली विकास प्राधिकरण (डी.डी.ए.) द्वारा पुलिस बल के साथ तुगलकाबाद के वन क्षेत्र में स्थित गुरु रविदास जी महाराज के मंदिर को तोड़ने के विरोध में पंजाब में किए गए बंद के ऐलान के बाद रविदास समुदाय के लोगों ने सुबह ही दिल्ली-जालंधर हाईवे पर जाम लगा दिया। पुलिस के समझाने पर गुस्साए लोगों ने 20 मिनट के लिए जाम खोल दिया,जिसके चलते दिल्ली की तरफ जाने वाली बसों और अन्य वाहनों की आवाजाही को सामान्य किया गया। इसके बाद प्रदर्शन कर रहे लोगों ने फिर से जाम लगा दिया। बंद का सबसे ज्यादा असर जालंधर तथा लुधियाना में देखने को मिला। 

PunjabKesari

बीते शनिवार से मंदिर तोड़े जाने के विरोध में प्रदर्शन कर रहे रविदास भाईचारे के लोग बंद के आह्वान पर भारी बारिश में भी सुबह ही सड़कों पर उतर आए। अलग-अलग टोलियों में बंट कर इन लोगों ने शहर के विभन्न हिस्सों में जाम लगा दिया,जिससे शहर की यातायात व्यवस्था चरमरा गई। गौरतलब है कि इन लोगों के आंदोलन और बंद को कांग्रेस भी समर्थन दे रही है।   इस कारण पंजाब भर में सभी शैक्षणिक तथा अन्य विभागों में सरकार द्वारा छुट्टी का ऐलान किया है। रविदास भाईचारे के प्रदर्शन के चलते यहां पुलिस द्वारा सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। वहीं बंद के कारण लोगों को भी काफी परेशानी का सामना करना पड़ेगा। ऊपर से लगातार हो रही बारिश ने भी लोगों के लिए मुसीबत खड़ी कर दी है।

PunjabKesari

पंजाब कांग्रेस ने किया बंद का समर्थन
कांग्रेस की पंजाब इकाई के प्रमुख सुनील जाखड़ ने भी रविदास समुदाय के प्रति अपनी पार्टी का समर्थन जताया लेकिन उनसे यह सुनिश्चित करने की अपील की कि उनके प्रदर्शनों के चलते आम लोग न प्रभावित हों। यहां सोमवार को जारी एक बयान में जाखड़ ने कहा कि पार्टी समुदाय के साथ है और इस ऐतिहासिक स्थल के पुन: आबंटन और मंदिर के पुनर्निर्माण के मामले को आगे बढ़ाने में हरसंभव मदद करेंगे। हालांकि लोक हित में उन्होंने विरोध प्रदर्शनों की अगुवाई कर रहे गुरु रविदास जयंती समारोह समिति से सड़कों एवं राजमार्गों को अवरोधित नहीं करने की अपील की ताकि यात्रियों को परेशानी न हो।

PunjabKesari

कई राजमार्ग अवरोधित
इससे पहले लुधियाना, जालंधर, फगवाड़ा, गुरदासपुर और अमृतसर में प्रदर्शनकारियों ने राज्य के कई राजमार्गों को अवरोधित किया जिससे यात्रियों को मुश्किलें उठानी पड़ी। इस बीच केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग राज्य मंत्री एवं होशियारपुर के सांसद सोम प्रकाश ने मंदिर गिराए जाने को दुर्भाग्यपूर्ण बताया। उन्होंने कहा कि वह मामले को सुलझाने के लिए दिल्ली के उपराज्यपाल और जरूरत पडऩे पर प्रधानमंत्री से भी मुलाकात करेंगे। नई दिल्ली के लिए सोमवार को रवाना होने से पहले फगवाड़ा स्थित अपने आवास पर बुलाए संवाददाता सम्मेलन में सोम प्रकाश ने कहा कि मंदिर गिराए जाने ने न सिर्फ दलितों बल्कि समाज के सभी वर्गों की धार्मिक भावनाओं को आहत किया है। 

PunjabKesari

पंजाब में मामले ने पकड़ा तूल
उल्लेखनीय है कि पंजाब में इस मामले ने विकराल रूप धारण कर लिया है। यहां के सभी जिलों में दिल्ली और केंद्र सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किए जा रहे हैं। मंदिर तोड़ने के विरोध में रविदास भाईचारे ने आज बंद करने  के ऐलान के साथ ही 15 अगस्त को काला दिवस मनाने का ऐलान किया है। इसी दिन जालंधर के रास्ते बंद रखे जाएंगे,जिससे अन्य जिलों और राज्यों से आने-जाने वाले लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ेगा। आपको बता दें कि शनिवार और रविवार को भी पंजाब के अलग-अलग जिलों में रविदासिए समुदाय के लोगों ने विरोध प्रदर्शन किया था। 


 

 

 

 


swetha