किसानों के हक में आए संत सीचेवाल और पूर्व खिलाड़ी, किया बड़ा ऐलान

12/4/2020 10:10:38 AM

शाहकोट (त्रेहन): किसानों के समर्थन में 30 पूर्व खिलाड़ी भी आगे आए हैं। इन खिलाड़ियों ने किसानों की मांगों को जायज बताते कहा कि विरोध कर रहे किसानों के साथ हुए गलत व्यवहार से वह बेहद दुखी हैं इसलिए वह अपने सभी मैडल राष्ट्रपति को वापस करेंगे। पूर्व पहलवान और अर्जुन अवार्डी करतार सिंह ने कहा कि हम चाहते हैं कि मोदी सरकार 1-2 दिनों में फ़ैसला ले नहीं तो हमारे पास जो पद्मश्री, अर्जुन अवार्ड या जो भी अवार्ड हैं, हम उनको वापस देने  के लिए तैयार है। 

उधर, विश्व प्रसिद्ध वातावरण प्रेमी संत बलवीर सिंह सीचेवाल ने भी अपना पद्म विभूषण अवार्ड वापस करने का फ़ैसला किया है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार की किसानों बारे बेरुख़ी और अन्नदाता की दुर्दशा उनसे सहन नहीं हो रही थी, इसलिए उन्होंने यह फ़ैसला लिया है। वह 5 दिसंबर को दिल्ली जाकर अपना अवार्ड वापस करेंगे और साथ ही सिंघू बार्डर पर किसानी आंदोलन में सम्मिलन करेंगे। उनके नेतृत्व में ही पंजाब के साथ सबंधित राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी भी अपने सम्मान वापस करेंगे।

बादल ने पद्म विभूषण और ढींडसा ने पद्म भूषण किया वापस
यह भी बता दें कि खेती कानूनों खिलाफ शिरोमणी अकाली दल के सरप्रस्त प्रकाश सिंह बादल ने पद्म विभूषण और शिरोमणी अकाली दल (डेमोक्रेटिक) के प्रधान सुखदेव सिंह ढींडसा ने पद्म भूषण अवार्ड बीते दिन वापस कर दिया था। अकाली दल के सरप्रस्त ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को लिखे पत्र में कहा कि वह हार गए हैं तो उनको पद्म विभूषण रखने का कोई मतलब नहीं दिखाई दे रहा। इसी कड़ी में ढींडसा ने कहा कि उनको बेहद दुखी मन के साथ कहना पड़ रहा है कि जो कुछ किसानों के साथ हो रहा है, वह ठीक नहीं है। ऐसी स्थिति में पद्म भूषण का क्या करना है, इसलिए विरोध में वह अपना अवार्ड वापस कर रहे हैं। 


Tania pathak

Recommended News