SGPC ने सिखों को जोडऩे के लिए दिल्ली मेें संभाला मोर्चा, खोला खजाना

punjabkesari.in Saturday, Apr 23, 2022 - 12:55 PM (IST)

नई दिल्ली (सुनील पांडेय): शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (एस.जी.पी.सी.) अब राजधानी दिल्ली में अपने सिख मिशन को पूरे जोर- शोर से शुरू कर धर्म प्रचार का काम करेगी। इसके लिए एस.जी.पी.सी. ने एक बड़ा प्लेटफार्म तैयार किया है। साथ ही एक 3 सदस्यीय कमेटी भी बनाई है। इसकी कमान खुद एस.जी.पी.सी. के अध्यक्ष हरजिंद्र सिंह धामी ने संभाली है। दिल्ली के सिखों को जोडऩे एवं उन्हें कौम के प्रति और ज्यादा समर्पित करने के लिए एस.जी.पी.सी. ने अपना खजाना भी खोल दिया है। 

बता दें कि शिरोमणि अकाली दल (बादल) के दिल्ली कमेटी में पिछले 12 सालों से सत्ता में आने के बाद एस.जी.पी.सी. की ओर से चल रहे सिख मिशन का कार्य ठप्प पड़ा था। दिल्ली में धर्म प्रचार का सारा कार्य दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी कर रही थी। लेकिन बदले सियासी समीकरणों एवं शिरोमणि अकाली दल से जीते हुए कमेटी सदस्यों द्वारा अपना अलग गुट बनाने के बाद अब एस.जी.पी.सी. ने दिल्ली में समानान्तर धर्म प्रचार शुरू करने का फैसला किया है। इसके लिए शिरोमणि कमेटी के वरिष्ठ उपाध्यक्ष रघुजीत सिंह विर्क, दिल्ली कमेटी की सदस्य रणजीत कौर एवं सुखविंद्र सिंह बब्बर शामिल किए गए हैं। इसके अलावा इसमें और भी कमेटी सदस्यों को जोडऩे की बात कही गई है। 

दिल्ली की संगतों को पंजाब के ऐतिहासिक गुरुद्वारों के नि:शुल्क दर्शन करवाने के लिए एस.जी.पी.सी. ने अपनी 2 बसें भेज दी हैं। इसके अलावा बड़े स्तर पर दिल्ली में धर्म प्रचार के तहत कीर्तन दरबार करवाए जाएंगे। इसके साथ ही एस.जी.पी.सी. स्वास्थ्य सुविधाओं पर भी विशेष ध्यान देगी। कुल मिलाकर दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी और शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी आमने-सामने आ गई है। सूत्रों के मुताबिक एस.जी.पी.सी. अध्यक्ष धामी ने दिल्ली और उत्तर प्रदेश के मिशन का साढ़े 3 करोड़ का बजट निर्धारित किया है। इसके अलावा सवा करोड़ शताब्दी समारोह के लिए खर्च किया जा सकता है, इसलिए यह माना जा रहा है कि लगभग 5 करोड़ रुपए सालाना दिल्ली में खर्चने की नीयत से धर्म प्रचार की लहर को प्रचंड करने का फैसला लिया गया है। एस.जी.पी.सी. द्वारा करवाए जाने वाले कीर्तन दरबारों के साथ ही अमृत संचार भी बड़े स्तर पर करवाया जाएगा।  


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vatika

Related News

Recommended News