सरकारी कॉलेज गेस्ट फैकल्टी सहायक प्रोफेसर एसोसिएशन ने परगट सिंह के घर का किया घेराव

punjabkesari.in Sunday, Nov 14, 2021 - 10:26 AM (IST)

जालंधर : सरकारी कॉलेज गेस्ट फैकल्टी सहायक प्रोफेसर एसोसिएशन के राज्य प्रधान प्रोफेसर हरमिंदर सिंह डिम्पल नाभा और पंजाब के अलग-अलग सरकारी कॉलेजों के मैंबरों ने सरकार की नीतियों को लेकर आज जालंधर में शिक्षा मंत्री परगट सिंह के घर का घेराव किया। इस मौके पर शिक्षा मंत्री परगट सिंह जत्थेबंदी के धरने में पहुंचे और उन्होंने जत्थेबंदी को यह भरोसा दिया कि 906 गेस्ट फैकल्टी के सहायक प्रोफेसरों की नौकरियों को सुरक्षित करने के लिए 16 नवंबर को पत्र जारी कर दिया जाएगा और जत्थेबंदी सदस्यों के साथ मीटिंग की जाएगी। इस मौके पर सभी राज्य कमेटी के सदस्यों ने कहा कि जितनी देर पंजाब सरकार लिखित पत्र जारी नहीं करती, उतनी देर कॉलेजों में धरना प्रदर्शन जारी रहेगा।

यह भी पढ़ें : वारदात : पंजाबी युवक को मनीला में गोलियों से भूना, 4 बहनों का था इकलौता भाई

आपको बता दें कि बीते दिन भी पंजाब सरकार शिक्षा विभाग की गेस्ट फैकल्टी /पार्ट टाईम /कॉन्ट्रैक्ट पर सरकारी कालेजों में पिछले 15-20 सालों से काम करते सहायक प्रोफेसरों विरुद्ध अपनाई नीतियों को लेकर गेस्ट फैकल्टी सहायक प्रोफेसर एसोसिएशन के राज्य प्रधान प्रोफेसर हरमिंदर सिंह डिम्पल नाभा और पंजाब के अलग-अलग सरकारी कालेजों के मैंबर मुख्यमंत्री पंजाब चरणजीत सिंह चन्नी को चंडीगढ़ में उनके निवास स्थान पर मिलने के लिए पहुंचे थे। सारा दिन गहमा-गहमी के बाद भी मुख्यमंत्री चन्नी के साथ मुलाकात नहीं हो सकी। इस समय गेस्ट फैकल्टी सहायक प्रोफेसर एसोसिएशन ने मोहाली में सचिव शिक्षा पंजाब के दफ्तर को घेर कर धरना प्रदर्शन कर रोश प्रकट किया। इस दौरान सचिव उच्च शिक्षा कृष्ण कुमार की तरफ से पुलिस प्रशासन के द्वारा जत्थेबंदी को 15 नवंबर को सचिव दफ्तर मोहाली में विभागीय मीटिंग के लिए शाम 4 बजे का समय दिया। इस मौके पर प्रोफेसर हरमिंदर सिंह डिम्पल नाभा, लखविन्दर सिंह नाभा, प्रो. नरिंदर सिंह नाभा, प्रो. हुक्म चंद पटियाला, प्रो. धरमजीत मान जलवेड़ा और कई अन्य मैंबर उपस्थित थे।

अपने शहर की खबरें Whatsapp पर पढ़ने के लिए Click Here

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Sunita sarangal

Related News

Recommended News