WHO व कॉर्पोरेट घरानों को टारगेट करते हुए किसानों ने किया चक्का जाम, की मांग

punjabkesari.in Monday, Feb 07, 2022 - 05:46 PM (IST)

टांडा (वरिन्दर पंडित): किसान मजदूर सघंर्ष समिति पंजाब राज्य के नेता सविन्दर सिंह चुताला के नेतृत्व में आज ब्यास पुल जाम करके पंजाब सरकार का पुतला फूंका गया और कोरोना की दीवार में निजी समेत सरकारी स्कूल कालेज खोलने की मांग की गई। इसके साथ ही सरकार विरुद्ध जोरदार नारेबाजी भी की। किसान नेता कुलदीप सिंह बेगोवाल कशमीर सिंह फुत्ता कुल्ला, गुरजीत सिंह वलटोहा की तरफ से धरनाकारियों को संबोधन करते कहा कि अर्द्धसैनिक नीतियों के अंतर्गत कॉर्पोरेट घरानों को वैक्सीन में अरबों रुपए लाभ पहुंचाने के लिए साधारण बीमारी को WHO की तरफ से महामारी का रूप दिया गया है, जिसके साथ मुकम्मल कालेज, यूनिवर्सिटियां बंद होने के साथ विद्यार्थियों का भविष्य खराब हो चुका है।

यह भी पढ़ेंः संयुक्त किसान मोर्चो ने संगरूर-बरनाला रोड पर लगाया धरना

ऑनलाईन पढ़ाई इस मसले का कोई हल नहीं है। गरीब लोगों के पास मोबाइल, लैपटॉप खरीदने की सामर्थ्य नहीं है, जिसके साथ बच्चे चिड़चिड़े और मानसिक तौर पर बीमार हो चुके हैं और माता-पिता की बड़े स्तर पर लूट हो रही है। उन्होंने कहा कि दूसरी तरफ मॉल और शराब के ठेके खुले हुए हैं और वोटों में राजनीतिक पार्टियां बड़ी-बड़ी रैलियां कर रही हैं और फिर शैक्षणिक अदारे क्यों बंद हैं। इसलिए किसान नेताओं ने कोरोना की आड़ में स्कूल-कालेज बंद को खोलने और निजी स्कूलों-कालेजों को सरकारी करने की जोरदार मांग की। इस मौके रणजीत सिंह भर हरबंस सिंह जबरू, गुरसेवक सिंह, हरमन मोता सिंह, मनराज सिंह, मंड सहिल, टाली सरवण सिंह, उपदेश सिंह आदि उपस्थित थे।

अपने शहर की खबरें Whatsapp पर पढ़ने के लिए Click Here

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

Urmila

Related News

Recommended News