कोख से जन्मी बेटी ने ढाया कहर, खबर पढ़ आपकी आंखें भी हो जाएंगी नम

punjabkesari.in Tuesday, Apr 12, 2022 - 12:32 PM (IST)

चंडीगढ़ (हांडा): सैक्टर-40 के मकान नंबर 3100 में पिछले 5 वर्षों से 85 वर्षीय महिला बंद है जोकि कभी बाहर नहीं निकली। मकान में बुजुर्ग महिला के साथ उसकी बेटी भी रहती है जो किसी को अंदर घुसने नहीं देती। यही नहीं घर के अंदर दर्जन भर आवारा कुत्तों को भी पाला हुआ है, जो किसी को नजदीक आने नहीं देते जिसके के कारण लोग परेशान हैं क्योंकि घर अंदर से बदबू आती है, टोकने पर बुजुर्ग महिला की बेटी लोगों के साथ झगड़ती है। पड़ोसियों को शक हुआ कि बुजुर्ग महिला की मौत हो चुकी है और बेटी इस बात को छिपा रही है जिस कारण सभी ने मिलकर एस.डी.एम. को शिकायत लिखी कि घर को खुलवाकर तलाशी ली जाए और वास्तविकता जनतक की जाए।

यह भी पढ़ेंः पंजाब के इस जिले में बम मिलने से मचा हड़कंप, मौके पर बम डिस्पोजल टीम

लोगों की शिकायत पर सोमवार को एस.डी.एम. साउथ प्रदुमन सिंह ने पुलिस को साथ लेकर मकान नंबर 3100 का दौरा किया। जब वह मकान में पहुंचे तो घर में ताला लगा था। बार-बार बुलाने पर भी कोई नहीं आया। घर के अंदर बुजुर्ग महिला की बेटी हरजीत कौर मौजूद थी जिसने गेट खोलने से मना कर दिया और ऊपरी मंजिल पर चली गई। एस.डी.एम. एक घंटा उसे गेट खोलने के लिए मनाते रहे परन्तु वह न मानी, जिसके बाद एस.डी.एम. ने पुलिस को ताला तोड़ने के आदेश दिए। ताला तोड़ने के बाद एस.डी.एम. पुलिस के साथ अंदर गए, जहां एक कमरे में बुजुर्ग महिला रणजीत कौर जिंदा मिली परन्तु बहुत ही दयनीय हालत में। एस.डी.एम. और उनके साथ आई बुजुर्ग महिला की बेटी इन्द्रजीत कौर को देखते ही वह चीखने लगी कि वह अपनी बेटी के साथ ही रहेगी। एस.डी.एम. ने बुजुर्ग महिला की बेटी हरजीत कौर को मां को लेकर मंगलवार को एस.डी.एम. दफ्तर में उपस्थित होने को कहा है। रणजीत कौर मशहूर नोटरी रहे गुलशनबीर सिंह की पत्नी है जिनकी तीन बेटियां हैं जिनमें से एक पटियाला से गजटिड अफसर रिटायर हुई है। गुलशनबीर सिंह ने बुढ़ापे के सहारे के लिए बड़ी बेटी इन्द्रजीत कौर के बेटे सर्बजोत को गोद ले लिया था। आरोप है कि हरजीत कौर अपने पिता व भाई को भी घर से निकाल चुकी है जोकि अलग रह रहे हैं।

यह भी पढ़ेंः पंजाब में दिल दहला देने वाली घटना, कलयुगी बेटे ने पहले पिता को उतारा मौत के घाट और फिर...

गुलशनबीर सिंह और उनका गोद लिया पुत्र सर्बजोत सिंह की तरफ से पुलिस को कई बार हरजीत कौर खिलाफ शिकायत दी जा चुकी है कि उसने मकान पर जबरन कब्जा कर लिया है परन्तु आज तक कोई कार्यवाही नहीं हुई। सर्बजोत सिंह ने बताया कि उनकी बहन वर्ष 2015 में जून की छुट्टियों में अपने बच्चों के साथ यहां आई थी और जबरन अपने परिवार समेत यहीं रहने लगी। भाई खिलाफ पुलिस में रेप करने की कोशिश की शिकायत की और पिता खिलाफ भी एफ.आई.आर. दर्ज करवा दी।

यह भी पढ़ेंः नवजात बच्ची का भ्रूण फैंकने वाले माता-पिता चढ़े पुलिस के हत्थे

इन्दरजीत कौर ने बताया कि अपनी मां को उसने 3 वर्षों से नहीं देखा था इसलिए वह एक महीने से हर रोज सैक्टर-40 में जा कर मां को मिलने की कोशिश कर रही थी परन्तु हरजीत कौर ने नहीं मिलने दिया, न ही मां की शक्ल ही दिखाई जिसके बाद वह पास के लोगों को साथ लेकर एस.डी.एम. दफ्तर गई थी जिसके बाद एस.डी.एम. खुद आए और दरवाजा खुलवाया। उन्होंने बताया कि उनकी मां की हालत बहुत खराब थी जिनको कुत्तों के कमरो में रखा हुआ था। उन्होंने एस.डी.एम. से मांग की है कि उनकी मां की कस्टडी उनको दी जाए जिससे वह उनकी अच्छी तरह से देखभाल कर सकें। 

अपने शहर की खबरें Whatsapp पर पढ़ने के लिए Click Here

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

Urmila

Related News

Recommended News