मौसम ने ली करवट, किसानों की बढ़ी  मुश्किलें

10/18/2021 12:23:50 PM

लुधियाना (खुराना) :  बीते रविवार को आसमान में काले बादलों को लुका-छिपी खेलते देखा तो किसानों का दिल तेजी से धड़कने लगा । बरसात वाले बने मौसम को देख अनाज मंडियों में खुले आसमान के नीचे अपनी फसलें लेकर बैठे किसान दोनों हाथ जोड़कर अरदास करते दिखे कि ‘हे ईश्वर मेहर करो, साल की सारी मेहनत दांव पर लगी है ।’गांव चूहड़वाल राहों रोड के किसान वीर सिंह, गांव ढेरी के बल सिंह, गांव हवास के तलविंदर सिंह और गांव चौंता के बलविंदर सिंह ने कहा एक तरफ तो उनको बारिश का डर सता रहा है और दूसरी तरफ सरकार की किसान विरोधी नीतियां उनको खेती छोड़ने पर मजबूर कर रही है। 

PunjabKesari

किसानों ने लगाए गंभीर दोष
किसानें ने गंभीर दोष लगाते कहा कि फसल में नमी की मात्रा ज्यादा बताकर कर्मचारियों ने उनको एक कविंटल के पीछे 5 किलो तक धान की काट कटवाने के लिए मजबूर किया जा रहा है, जोकि सरासर गलत है। तलविंदर ने कहा कि वह बीते शनिवार को मंडी में फसल लेकर आए थे, कर्मचारियों ने उनको कहा कि फसल में नमी   ज्यादा मात्रा में है। फसल को धूप लगाकर सुखाना पड़ेगा पर मौसम को देखते हुए धूप खिलने की संभावना नहीं दिख रही है। बल सिंह ने बताया कि उनको फिलहाल कोई पूछने तक नहीं आया और वहीं बरसात पड़ने की संभावनाएं बढ़ती जा रही है। उन्होंने आगे कहा कि फसलो की बिक्री करने के बाद किसानी संघर्ष के लिए दिल्ली जाना है। वही चौंता के बलविंदर सिंह का कहना है कि पिछले तीन दिनों में अनाज मंडी में खाट बिछाकर बैठे हुए हैं, हालात को देखकर लगता है कि अभी 3-4 दिन ओर लगेंगे। उन्होंने कहा कि यदि धान की फसल नहीं बिकेगी तो फिर गेहूं की फसल कैसे बीजेंगे। उन्होंने कहा कि सरकार जान-बूझ कर किसानों को मंडियों में उलझा रही ताकि दिल्ली में किसान मोर्चा को कमज़ोर किया जा सके। पर हम सभी को एकजुट हो कर मोर्चे में जीत हासिल करेंगे, फिर चाहे हमें कोई भी बलि क्यों न देना पड़े।

कंट्रोलर ने कहा कि दोषी पाए जाने वाले पर होगी कार्रवाई
धान पर काट लगाने संबंधी कर्मचारियों को लेकर फूड स्पलाई विभाग के कंट्रोलर सुरिन्दर बेरी ने कहा कि इस तरह की साजिश रचने वाले कर्मचारियों के ख़िलाफ सख्त विभागीय कार्यवाही की जायेगी, फिर चाहे वह विभागीय कर्मचारी हो या फिर आढ़ती, किसी को भी बख्शा नहीं जाएगा। उन्होंने खुले में रखी फसल को लेकर साफ कहा है कि बरसात की संभावनाओं को देखते उन्होंने जिला मंडी अधिकारी को पहले ही फसल को कवर करने और  ज्यादा तिरपालों का प्रबंध करने के लिए कहा था।

पंजाब की खबरें Instagram पर पढ़ने के लिए हमें Join करें Click Here

अपने शहर की और खबरें जानने के लिए Like करें हमारा Facebook Page Click Here


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Sunita sarangal

Related News

Recommended News